चलते चलते

'जनता कर्फ्यू' के दौरान मचे थाली के शोर से फटा 'कोरोना' के कान का पर्दा, नहीं ले रहा कोई सुध

26, Mar 2020 By किल बिल पांडे

नयी दिल्ली. पिछले चार महीने से दुनियाभर में हड़कंप मचा चुके कोरोना वायरस ने भारत में भी अपने पाँव पसारने शुरू कर दिये हैं। हालाँकि दुनिया में ग़दर मचाने वाले कोरोना वायरस को भारत में आना भारी पड़ गया है।

thali
थाली की इकलौती फोटो!

खबर है, कि पीएम मोदी के आग्रह पर, जनता कर्फ्यू के दौरान आभार के लिए मचे थाली और तालियों के शोर से कोरोना के बाएँ कान का पर्दा फट गया है। प्रधानमंत्री के आग्रह के विपरीत, लोगों ने व्हाट्सएप्प पर फैले संदेशों की बदौलत बर्तनों को इतनी जोर से ठोंक दिया कि उसकी ध्वनि से ‘कोरोना’ बरसाती नाले के पास चक्कर खाकर गिर पड़ा।

हुआ यूँ कि कोरोना को पता ही नहीं था कि मोदीजी ने आज जनता कर्फ्यू नाम के चक्र-व्यूह की रचना की है, दिल्ली की गलियों में  टहलते हुए वो शोर के बीच ऐसा फँसा कि उसे अपनी सात पुश्तों के चमगादड़ याद आ गये।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, जैसे ही कोरोना ने इस ‘कान फाड़ू’ शोर से बचने के लिए कोई कोना ढूँढने का प्रयास किया, उसे नाकामी ही हाथ लगी क्योंकि कोने-कोने से थाली पीटे जा रहे थे!

इस स्तर का शोर बर्दाश्त न कर पाने के कारण, वो एक कान से बहरा हो गया और अपना इलाज करवाने सीधा मोतीनगर के मोहल्ला क्लिनिक जा पहुँचा, जहाँ से उसे AIIMS रेफर कर दिया गया।

‘जनता कर्फ्यू’ के चक्कर में ऑटो वाले को दुगुना भाड़ा देकर एम्स पहुंचा कोरोना, लंबी क़तार देखकर मौके पर ही बेहोश हो गया।

चार घंटे बाद स्टाफ और जनता की मुस्तैदी के कारण पहचान में आये कोरोना को तुरंत पकड़कर क्वारंटाइन में डाल दिया गया है और उस पर कड़ी नज़र रखी जा रही है।

क्वारंटाइन में उस पर रिसर्च करके ‘एंटीडोट’ बनाने की तैयारियां शुरू हो गयी हैं, जैसे ही वैक्सीन तैयार होगी उसे ‘पहली फुर्सत में निकल’ बोलकर चीन रवाना कर दिया जाएगा।



ऐसी अन्य ख़बरें