Thursday, 25th April, 2019

चलते चलते

अब सिर्फ पॉकेटमारी और कंबल कुटाई के केस देखेगी सीबीआई, जेटली ने दिए सख्त निर्देश

30, Jan 2019 By Fake Bank Officer

नयी दिल्ली. ‘केंद्रीय जाँच ब्यूरो’ यानी सीबीआई की मनमानी दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। आए दिन इनके अफसर बिना मंत्रियों सांसदों, विधायकों की परमिशन के, किसी भी रसूखदार के खिलाफ FIR दर्ज कर देते हैं। ताज़ा मामला ICICI बैंक की पूर्व CMD चंदा कोचर के खिलाफ FIR का है, जिससे वित्त मंत्री अरुण जेटली बहुत ज्यादा आहत हो गए।

arun-jaitley
पूछकर जाना चाहिए था ना!

इसी के साथ दिल्ली पुलिस स्पेशल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट में संशोधन कर सीबीआई को सबक सिखाने की तैयारी की जा रही है।

अरुण जेटली ने अमेरिका से अपने डॉक्टर के हवाले से सीबीआई को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे सिर्फ पॉकेटमार और कंबल कुटाई जैसे छोटे-मोटे मामलों की ही जांच करे, वो भी केंद्र सरकार से लिखित में पूर्व अनुमति लेकर!

बड़े अपराधियों के आसपास भी अगर CBI का कोई अफसर नज़र आया तो उसका तुरंत तबादला कर दिया जाएगा!

सीबीआई पर यह लगाम कसने का कारण जेटली जी ने CBI का अपने टारगेट पर फोकस न करना बताया है। “हम समझते थे कि हमेशा की तरह सीबीआई विरोधी दलों के नेताओ के पीछे पड़ेगी लेकिन राजनैतिक बदले की परंपरा त्याग कर ये लोग तो सचमुच के अपराधियों के पीछे लग गए! तोता पिंजरे से बाहर निकलने लगे तो पर काटने ही पड़ते हैं!” – जेटली जी ने एक अमेरिकी अस्पताल के बाहर मौसंबी का जूस पीते हुए पत्रकारों को बताया।

“पॉकेटमारी और कंबल कुटाई देश की सबसे बड़ी समस्या है, मेट्रो और खान मार्केट में तो साले भरे पड़े हैं!” -जेटली जी ने तर्क दिया।

उधर, मामले से सबक लेते हुए CBI के ट्रांसफर लेने को इच्छुक सभी अफसर सक्रिय हो गए हैं। एक ही दिन में कई रसूखदार लोगों के खिलाफ सैकड़ों FIR दर्ज हुई हैं। FIR दर्ज करने वाले सभी अधिकारी अपनी वर्तमान पोस्टिंग से नाखुश हैं और ऐसा करके तत्काल ट्रांसफर चाहते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें