Friday, 19th October, 2018

चलते चलते

गाँव में बिजली आई तो सब देखने बैठे टीवी, अर्नब की आवाज से डरकर पूरा गाँव हुआ खाली

02, May 2018 By Ritesh Sinha

रायपुर/सोनारपाल. सूचना मिली है कि बस्तर के तोकापाल तहसील में गुज्जमटोला गाँव के तकरीबन सत्तर लोग गाँव छोड़कर भाग गए हैं। बताया जा रहा है कि इस गाँव में पिछले दिनों पहली बार बिजली आई थी। बिजली आने की ख़ुशी में पूरे गाँववाले एक जगह बैठकर टीवी देखने का आनंद ले रहे थे। इसी दौरान किसी ने गलती से रिपब्लिक टीवी लगा दिया, जिसमे अर्नब पूरी एनर्जी से संजय झा पर चिल्ला रहे थे। गाँववालों ने जब पहली बार अर्नब की आवाज सुनी तो वे डर गए और उन्होंने गाँव से पलायन कर दिया।

tv villagers
इसी दौरान अर्नब की आवाज सुनकर भागे ग्रामीण

तोकापाल के सरकारी अस्पताल मे शरण लिए ग्रामीण मनीष कुंजाम ने बताया कि “आधा घंटा तक तो टीवी एकदम मस्त चला! ‘मैं इंतकाम लूँगा!’ पिच्चर आ रही थी, धर्मेन्द्र और अमरीश पुरी वाली! हम सब लोग वही पिच्चर देख रहे थे! तभी ‘होड़मा जीतू’ ने कोई बटन दबा दिया! उसके बाद तो जैसे आसमान ही टूट पड़ा! मैनी काकी, हुलास काका, मलैया, सोंडूर सब एक साथ भागने लगे, हम भी भागे, और सीधे यहीं पर आकर रुके हैं!”

“भैया! हम तो खुश हो रहे थे कि हमारे गाँव में बिजली आई है, लेकिन इस सरकार ने तो हमारा कान ही फोड़ दिया था! बम-बंदूक की आवाज तो हम बहुत सुना लेकिन ऐसी आवाज जिंदगी में पहली बार सुनी है!”

फिर उन्होंने ‘जीतू’ नाम के एक युवक को चिल्लाकर अपने पास बुलाया। “ए जीतू! आत बेटा एक कनीक! खजानी दुहूँ!” जब जीतू उनके पास आया तो वो उस पर पिल पड़ा- “किसने कहा था तुझे चैनल चेंज करने को! ज्यादा होशियारी मत बताया कर! कान का पर्दा फोड़ दिया! भैरा कर देबे का रे?” -कुंजाम ने कान खुजाते हुए कहा।

“भैया! अब तो हम गाँव वापस नहीं जाएँगे! और ना ही हम टीवी देखेंगे! हम यहीं ठीक हैं!” -कुंजाम ने आगे बताया। उधर, इस घटना की जानकारी राज्य और केंद्र सरकारों को दे दी गई है। केंद्र सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए ‘कान रोग विशेषज्ञ’ बस्तर रवाना कर दिए हैं। साथ ही बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने अपील की है कि जहाँ भी बिजली पहुँच रही है, वहाँ के लोग कुछ दिन ‘Adventurism’ से दूर रहें!”



ऐसी अन्य ख़बरें