Wednesday, 26th June, 2019

चलते चलते

पश्चिम बंगाल में एंट्री के लिए अब तारों के नीचे से जाएँगे भाजपा नेता

13, Feb 2019 By Guest Patrakar

कोलकाता. पश्चिम बंगाल सरकार ने एक बार फिर भाजपा नेताओं को रैली की इजाज़त देने से मना कर दिया है, यही वजह है कि अब भाजपा नेताओं ने तारों के रास्ते बंगाल में प्रवेश करने का फैसला किया है। बीजेपी नेता तड़के चार बजे  प.बंगाल में घुसेंगे और दोपहर तक रैली वगैरह करके फिर उसी रास्ते से वापस आ जाएँगे!

fencing
बॉर्डर पार करते दो बीजेपी कार्यकर्ता

लेकिन उन्हें ऐसा क्यों करना पड़ रहा है? इस ऊटपटाँग सवाल का जवाब दिया, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने। शाह ने बताया “ममता सरकार ने हमें एक नहीं, दो नहीं, बल्कि कई बार बंगाल में घुसने से मना कर दिया, ऐसे में हमारे पास तारों के नीचे से घुसने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है!”

“हमने सुना है कि जो भी घुसपैठिया तारों के नीचे से होकर बंगाल में आता है, उसे ‘दीदी’ ना केवल बंगाल में एंट्री देती है बल्कि उनके ऊपर आने वाली हर मुसीबत के ख़िलाफ़ हमेशा खड़ी हो जाती है! इसलिए अब हम भी तारों के नीचे से ही जाएँगे! जैसा देश वैसा भेस!”

उधर, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ ने बंगाल में घुसने का एक और तरीका ढूंढ निकाला है। योगी का मत है कि  “बंगाल, भारत का अभिन्न अंग है और किसी भी भारतीय को अपने ही देश में घूमने से रोकना संविधान के ख़िलाफ़ है! इसलिए हमें बंगाल का नाम बदल कर उत्तरप्रदेश रख देना चाहिए, इससे हम जब चाहें प. बंगाल में घुस सकते हैं और वो भी बिना किसी हिंसा या आक्रोश के!” हालाँकि योगी के इस सलाह पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अगले सोमवार को तारों के नीचे से घुसकर इस अभियान की शुरुआत करेंगे! उनके साथ हज़ारों कार्यकर्ता भी तार काटकर सीमा पार घुसपैठ करेंगे! अब देखना यह है कि क्या उन्हें रोहिंग्याओं की तरह सफलता मिलती है या एक बार फिर बंगाल में निराशा का सामना करना पड़ता है।



ऐसी अन्य ख़बरें