Thursday, 20th September, 2018

चलते चलते

बीजेपी IT सेल के लड़के ने अपनी ही गाड़ी में डाली एक लीटर तुअर दाल, पार्टी देगी 'वजुभाई सम्मान'

09, Jun 2018 By Fake Bank Officer

नयी दिल्ली. ‘पेट्रोल के रेट पर रोने वालों, कभी सब्जी-रोटी भी खा लो!’ और ‘दाल इतनी सस्ती है फिर भी लोगों को पेट्रोल ही पीना है!’ जैसे मैसेज दिन भर फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप्प पर फैलाना ही आजकल सुमित का एकमात्र काम है, क्योंकि वो बीजेपी की IT सेल में काम करता है। इस काम का उसके दिमाग़ पर ऐसा असर हुआ कि उसने अपनी ही बाइक में पेट्रोल की जगह एक लीटर गर्मा-गर्म तुअर दाल डाल दी और खुद चावल में पेट्रोल मिलाकर खा गया।

bike-youth
बाइक को धक्के मारकर वापस लाता सुमीत

सुमीत को तो पेट्रोल हजम हो गया पर उसकी बाइक को दाल रास नही आई और थोड़ी दूर चलते ही उसका इंजन सीज हो गया और उसे अपनी बाइक दो किलोमीटर तक धक्के मारकर लानी पड़ी।

सुमित मालवीय नाम का यह युवक बीजेपी आईटी सेल का एक कर्मठ कार्यकर्ता बताया जा रहा है। नोटबंदी हो या बीफ़बंदी, इसने हर स्थिति में पार्टी को डिफेंड किया। पार्टी के प्रति इसकी वफादारी का आलम ये था कि वो बिप्लब देव के बयानों में भी लॉजिक ढूंढने की कोशिश करता था। पेट्रोल के बढ़ते दामों पर भी वो सरकार की लाज बचाने के लिए अजीबोगरीब तर्क देने में भी माहिर था।

सुमित को क़रीब से जानने वाले उसके दोस्त कुब्रमण्यम स्वामी ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “पार्टी की गिर चुकी इज़्ज़त को ऊपर उठाने के बोझ तले वो दबा जा रहा था! कल किसी सरफिरे ने उससे बोल दिया कि ‘हर बात पे दाल की मिसाल देने वाले, दम है तो दाल से अपनी बाइक चलाकर दिखा!”

“बस वो ताव में आ गया और घर में जो रात की दाल बची थी, उसी में तड़का लगा कर बाइक में डाल दी! दाल से वो थोड़ी दूर तक चली भी लेकिन फिर गर्र..गर्र करके रुक गयी! धक्के मारकर मैकेनिक के पास पहुँचा तो पता चला कि इंजन को दाल खाने का कोई एक्सपीरिएंस नहीं था, इसलिए वो बैठ गया!”

इसी बीच पार्टी के सिद्धांतो से समझौता न कर अपना हज़ारों का नुकसान करने वाले सुमित को बीजेपी ने वफ़ादारी के लिए प्रसिद्ध ‘वजुभाई सम्मान’ देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि वो ख़ुद व्यक्तिगत रूप से उनका सम्मान करेंगे क्योंकि उनको ऐसे ही कार्यकर्ता चाहिए, जो दिल लगाकर पार्टी की सेवा करें और अपना दिमाग़ इस्तेमाल न करें।



ऐसी अन्य ख़बरें