Thursday, 20th September, 2018

चलते चलते

बिप्लब देब उवाच: "महाभारत काल से चला आ रहा हैं किकी चैलेंज!"

11, Aug 2018 By Champak Nandan

अगरतला. मुख्यमंत्री श्री बिप्लब देव ने दो महीने बाद आज एक और ज्ञानवर्धक बयान दे दिया। त्रिपुरा में ‘दीन दयाल युवा किकी कौशल योजना’ (DDYKKY) की घोषणा करते हुए बिप्लबजी ने कहा कि “किकी हमारे देश की प्राचीन विरासत है। यह तो महाभारत काल के ज़माने से ही चली आ रही परंपरा है। पितामह भीष्म ने रथ पर किकी चैलेंज पूरा करके ही तीन राजकुमारियों के साथ स्वयंवर किया था।”

biplab-kumar-deb
किकी चैलेंज लेने वालों को आशीर्वाद देते बिप्लब देब

यह ज्ञान देने के बाद वो बोले, “त्रिपुरा में किकी चैलेंज के विकास के लिए उपयुक्त वातावरण है। त्रिपुरा की सड़कों में गड्ढों और सड़कों के किनारे बिजली के खम्बे भी प्रचुर मात्रा उपलब्ध हैं।”

उन्होंने बताया कि “DDYKKY के तहत अगले 5 साल में 10 लाख युवाओं को चलती गाड़ी से उतारकर वीडियो बनाने की ट्रेनिंग दी जाएगी। इससे रोज़गार के अवसरों में खासी बढ़ोतरी होगी, जैसे कि ट्रेनिंग में घायल मरीजों की वजह से अस्पतालों में डॉक्टरों और नर्सों की मांग बढ़ेगी। ट्रेनिंग कर चुके सड़क छाप लम्पट युवाओं को आवारा आशिक़ों के मुकाबले ज़्यादा अवसर मिलेंगे।”

इसके बाद उन्होंने कनाडाई गायक-नर्तक और किकी चैलेंज के प्रणेता श्री ड्रेक की प्रशंसा करते हुए कहा, “ड्रेकजी को भारतीय संगीत और फिल्मों की अच्छी समझ है। ‘किकी डू यू लव मी’ के बोल में जिस तरह एक ही सवाल बारम्बार पूछा जा रहा है और ट्रैफिक सिग्नल तोड़कर लोफ़रपंती दिखाई जा रही है, उसमें हमें ठेठ भारतीयता की झलक मिलती है।”

मुख्यमंत्री के इस सनसनीखेज बयान के बाद हमारे संवाददाता ने श्री ड्रेक से इंस्टाग्राम डीएम पर चैट की। ड्रेक ने इस बयान से अपनी सहमति जताते हुए कहा, “मेरा भारत से बहुत पुराना रिश्ता है। मैं बिप्लबजी का बहुत सम्मान करता हूँ और आभार प्रकट करता हूँ कि उन्होंने किकी के सच और भारत की प्राचीन सभ्यता को दुनिया के सामने उजागर किया।” अपने अगले गाने के बारे में श्री ड्रेक ने बताया कि वो बाबा रामदेव की ‘योगा पोजिशन्स’ से बहुत प्रभावित हैं और अगले गाने में वो ‘डांसिंग अंकल’ उर्फ़ सजीव श्रीवास्तव के साथ भी काम करेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें