Saturday, 17th November, 2018

चलते चलते

खैनी पर बैन लगाने के लिए चल रही मीटिंग में भड़के नीतीश, बार-बार खैनी रगड़ने बाहर जा रहे थे मंत्री और अफ़सर

09, Jun 2018 By Ritesh Sinha

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संकेत दिया है कि प्रदेश में दारू और गुटखे के बाद खैनी पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। इसी सिलसिले में कल शाम को कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई थी। लेकिन इस मीटिंग में नीतीश कुमार को उस समय गुस्सा आ गया जब मंत्री और अधिकारी, हर दस मिनट में खैनी रगड़ने के लिए मीटिंग-रूम से बाहर जाने लगे। वे कोई ना कोई बहाना बनाकर, बाहर निकल जाते और ‘खैनी-कांड’ को अंजाम देकर ही वापस आते थे। नतीजा यह हुआ कि जिस मीटिंग को एक घंटे में समाप्त हो जाना चाहिए था, उसमे पाँच घंटे लग गए।

नीतीश कुमार
खैनी पर बैन लगाने के लिए मीटिंग करते नीतीश कुमार

सबसे पहले नीतीश कुमार ने मुद्दे पर अपनी राय रखी “देखिए! इस खैनी की वजह से बिहारियों की बहुत बदनामी हो रही है, कैंसर होता है सो अलग! हम चाहते हैं कि इस पर भी …” वो ऐसा कह ही रहे थे कि उनकी बगल में बैठे स्वास्थ्य मंत्री बोल पड़े- “आदरणीय नीतीश जी, माफ़ कीजिए लेकिन मेरी बीवी का फोन आ रहा है..मैं आता हूँ!” -कहते हुए वो रूम से बाहर चले गए। यह देखकर नीतीश कुमार को बहुत गुस्सा आया, पर उन्होंने किसी तरह अपना गुस्सा दबा लिया।

“तो मैं कह रहा था कि हम खैनी बेचने पर बैन लगा देंगे और जो भी अवैध रूप से बेचेगा उसे दो साल सजा की सजा..!” -वो ऐसा कह ही रहे थे कि आबकारी विभाग का एक अफसर खड़ा हो गया और कहा- “सर! मुझे पीने जाना है..प्यास लगी है..पानी पीने जाना है!” कहकर वो तुरंत रूम से बाहर निकल गया।

इसके बाद तो बाहर जाने वालों की लाइन ही लग गई। मंत्री और अफसर दस-दस मिनट में ही खैनी रगड़ने खिसकने लगे। एक मौका तो ऐसा आया कि रूम में सिर्फ नीतीश कुमार ही बैठे थे, बाकि सब बाहर।

पानी जब सर से ऊपर चला गया तो नीतीश बाबू से रहा नहीं गया। उन्होंने अफसरों को फटकारते हुए जोर से चिल्लाया- “तुम लोगों को सस्पेंड होना है क्या? चुपचाप यहाँ आकर बैठो! तमाशा नहीं हो रहा है यहाँ!”

मुख्यमंत्री जी को गुस्से में देखकर सभी अफसर हिल गए और हाथ पोछते हुए अपनी-अपनी सीट पर आकर वापस बैठ गए। मंत्रीगण भी काँपने लगे। एक बार फिर रूम पूरी तरह से भर गया। इतने में नीतीश कुमार अपनी कुर्सी से खड़े हो गए और बोले- “तुम लोग बैठो मैं जरा हल्का होकर आता हूँ!” -कहते हुए उन सबको छोड़कर खैनी रगड़ने चले गए।



ऐसी अन्य ख़बरें