Thursday, 15th November, 2018

चलते चलते

लंदन के तुसाद म्यूजियम में स्टेच्यू बनवाने से बाबा रामदेव का इनकार, कहा- "बनवाऊँगा तो स्वदेशी, नहीं तो नहीं!"

29, Jun 2018 By बगुला भगत

हरिद्वार. दो दिन पहले ही ख़बर आयी थी कि मैडम तुसाद के म्यूजियम में बाबा रामदेव का मोम का पुतला लगाया जायेगा, जिसके लिए बाबाजी ने लंदन जाकर अपनी बॉडी के नाप वगैरह भी दे दिये थे। बाबाजी ने ख़ुद उछलते हुए ट्वीट भी किया था कि म्यूजियम में मेरा वृक्षासन वाले पोज़ में स्टेच्यू लगाया जायेगा।

Baba Ramdev- Wax Statue
साइज़ तो दे दिया है पर पुतला नहीं बनवाएंगे बाबाजी

लेकिन अब ख़बर आ रही है कि बाबाजी ने मैडम तुसाद के म्यूजियम में पुतला लगवाने से इनकार कर दिया है। अचानक हुए इस ‘अनुलोम-विलोम’ पर बाबाजी का कहना है कि उनकी स्वदेशी अंतरात्मा जाग गयी है और उन्हें याद आ गया है कि ये लंदन वाले अंग्रेज़ ही तो हमारे देश को लूटकर ले गये थे।

“लेकिन चार दिन पहले तो आप लंदन में बड़े हँस-हँस के नाप दे रहे थे, अब अचानक क्या हो गया?” -हमारे रिपोर्टर का यह सवाल सुनकर बाबाजी थोड़े झेंप से गये। फिर चार-पाँच लंबी-लंबी साँसें खींचकर बोले, “गोरी चमड़ी देखकर बहकना तो हम भारतीयों की पुरानी कमज़ोरी है। तेरा बाबा भी बहक गया था। ही…ही ही…!”

फिर सीरियस होते हुए बोले, “असली बात तो ये है भैय्या कि मेरे पुतले में वे ना तो एलो वेरा यूज कर रहे थे और ना आँवला! और तेरे बाबा को तो चहिये जड़ी-बूटियों से बना स्वदेशी और आयुर्वेदिक पतंजलि पुतला। समझे बच्चा!”

“ये विदेशी कंपनी बाबा को भी ‘माल’ समझकर और लूटकर अपने देश ले जा रही थी। और जिस पुतले में हमारे भारतीय संस्कार ही नहीं होंगे, वो पुतला भला हमारे किस काम का!” -बाबाजी आँख फड़काते हुए बोले और ‘यू-टर्नासन’ करने लगे।



ऐसी अन्य ख़बरें