Monday, 26th August, 2019

चलते चलते

370 और 35A को कश्मीर से नहीं हटाना चाहिए, ठंडी में वे अब कहाँ जाएँगे: राहुल गाँधी

06, Aug 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में ‘धारा-370′ और ’35A’ के असर को ख़त्म करने के लिए लाये गये ‘जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक’ पर बोलते हुए कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने घोर विरोध दर्ज़ करवाया है। बिल पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि, “जम्मू-कश्मीर और लद्दाख वगैरह में आये दिन कड़ाके की ठंड पड़ती रहती है, कुछ महीनों में तो पारा जीरो डिग्री के नीचे चला जाता है, ऐसे में अगर 370 और 35A को हटा दिया जाएगा तो वे कहाँ जाएँगे!”

rahul
कहाँ जाएँगे भैया?

अगर इनको हटाना ही है तो पहले इनके रहने-खाने का प्रबंध किया जाये भैया! केंद्र की मोदी सरकार ने इस बारे में विचार नहीं किया और जल्दबाज़ी में यह बिल ला दिया! अब हम क्या करें?” -राहुल ने अपने चिर-परिचित अंदाज़ में कहा।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ’35A’ के जाने से उन्हें खासतौर पर दुःख हो रहा है क्योंकि 35, ‘पिछत्तीस’ के आसपास आता है। उन्होंने कहा कि पिछत्तीस के आसपास जितने भी लोग हैं उन सबका विशेष ध्यान रखा जाए।

उनके इस बयान के बाद कांग्रेस पार्टी के हल्के में हलचल मच गई। लोग एक-दूसरे का मुँह देखने लगे। बगल में बैठे शशि थरूर, माहौल को हल्का करने के लिए आगे आये और उन्होंने राहुल जी के कानों में चुपके से कुछ कहा।

थरूर से ज्ञान प्राप्त होते ही राहुल जी झुंझलाते हुए बोले- “हाँ..हाँ मुझे मालूम है! मैं तो मज़ाक कर रहा था!” इसके बाद वो इस बिल पर गंभीरता से बोलने लगे- “भाजपा से जुड़े हुए लोग अभी से वहाँ जमीन खरीदने की बातें कर रहे हैं, ये क्या हो रहा है? वहाँ जमीन खरीदने का पहला अधिकार वाड्रा जी को है! उन्हें सबसे पहले अपना हुनर दिखाने का मौका मिलना चाहिए! उसके बाद ही किसी और को मौका मिलना चाहिए!” -कहते हुए उन्होंने अपना भाषण पूरा कर दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें