Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

नयी जॉइनिंग के एक महीने बाद भी नहीं आया IAS खेमका को ट्रान्सफर का आर्डर, घरवालों ने करवाया जगराता

02, Dec 2019 By किल बिल पांडे

हिसार. हर सरकार के सौजन्य से देश के लगभग हर मंत्रालय में सेवाएँ दे चुके IAS अशोक खेमका एक बार फिर सुर्ख़ियों में हैं। इस बार भी खबर उनके तबादले से ही जुड़ी हुई है, लेकिन यह खबर उनके लिए ऐसा सुकून लेकर आई है जिसकी कल्पना उनके पूरे परिवार ने नहीं की थी।

khemka
अपने ट्रांसफर आर्डर की राह देखते खेमका

दरअसल अपने पिछले तबादले के पूरे एक महीने बाद भी आज तक खेमका के घर कोई नया ट्रान्सफर आर्डर नहीं पहुँचा है।  ऐसा होते ही पूरे खेमका परिवार के बीच खुशी की लहर दौड़ गयी। उनकी खुशी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ट्रान्सफर न होने के उपलक्ष्य में परिवार ने ‘जगराते’ का आयोजन कर डाला।

उसी जगराते में मुफ्त का खाना ठूँसने पहुँचे फ़ेकिंग न्यूज रिपोर्टर को परिवार के एक सदस्य पिंटू ने बताया कि, “पूरे एक महीने से हमारे घर कोई सरकारी कागज नहीं आया है, हमें तो यकीन ही नहीं हो रहा कि ऐसा भी हो सकता है! ट्रान्सफर के चक्कर में हम पूरा भारत भ्रमण कर चुके हैं, दूधवाला, अखबारवाला भी यह बोलकर हमें अपनी सेवाएँ देने से मना कर देता है कि महीने भर भी टिकते नहीं, कहीं पैसे लेकर फुर्र हो गए तो?”

पैकिंग की तो इतनी आदत हो गयी है कि जब भी किसी नजदीकी रिश्तेदार को सामान शिफ्ट करना होता है तो मूवर्स और पैकर्स वालों की जगह वो हमें ही फ़ोन घुमा देता हैं, टिप्स लेने के लिए! पर सरकार का शुक्रिया, ‘देर आयी पर दुरुस्त आयी!” -पिंटू ने नम आँखों से हलवा-पुरी बाँटते कहा।

सरकार के प्रवक्ता बांकेलाल ने पूरे मामले पर सफाई देते हुए हमें बताया कि, “ऐसा हो ही नहीं सकता कि खेमका का तबादल ना हुआ हो! क्योंकि सरकार कुछ करे या ना करे उनका तबादला अवश्य कर देती है! इस बार भी पक्का किया होंगे, पक्का डाक विभाग की तरफ से ही यह चूक हुई होगी, यह ससुरे तो मेरा अपॉइंटमेंट लैटर भी दबा के बैठ गए थे!” -गुस्साए बांकेलाल ने नाक खींचते हुए कहा।

सूत्रों की मानें तो सरकार ने पूरे प्रकरण के सामने आते ही जाँच के आदेश दे दिए हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें