चलते चलते

दिन भर 'कोरोना का घरेलू इलाज' व्हाट्सएप्प पर फॉरवर्ड करने वाली कानपुर की मामी को मिल सकता है 'नोबेल' पुरस्कार

17, Mar 2020 By किल बिल पांडे

कानपुर. पूरा विश्व कोरोना वायरस के कहर से जूझ रहा है और मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। भारत भी इससे अछूता नहीं है, चीन में जन्में इस वायरस के मनहूस कदम देश के कई राज्यों में देखने को मिले हैं। हालाँकि सभी सरकारें ‘एक्शन मोड’ में हैं और इसे फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठा रही है।

home-remedy
घरेलू इलाज के फायदे!

इसी बीच बाजार में सैनीटाईजरों और मास्क की कालाबाजारी शुरू हो गयी है, होली व दिवाली के दिन भी ना नहाने वाले लोग, हर दस मिनट में हाथ धोते नजर आ रहे हैं। हालाँकि निराशा भरे इस माहौल में देशवासियों के लिए एक अच्छी खबर आई है।

खबर है कि कानपुर की रहने वाली अनुराधा मामी को, वर्ष 2020 के ‘चिकित्सा’ नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित कर लिया गया है। मामी ने ‘कोरोना का घरेलू इलाज’ नाम के मैसेज को प्रतिदिन एक हजार व्हाट्सएप्प ग्रुप में शेयर किया था, उनके इस अभूतपूर्व योगदान के बदले उन्हें यह सम्मान प्राप्त होने जा रहा है।

नोबेल प्राइज कमेटी के प्रवक्ता टॉम चौरसिया ने हमें बताया कि- “काने’पुर वाली मामी ने कोरोना से लड़ने के लिए, घरेलू नुस्खों के प्रचार-प्रसार में बेहद अहम भूमिका निभाई है, मार्क ज़ुकरबर्ग ने स्वयं हमें सूचना दी थी कि, भारत में कोरोना का पहला केस आते ही मामी जी ने युद्ध स्तर पर अपना काम शुरू कर दिया था!

मामी जी ने ताबड़तोड़ हजारों मैसेज अपने रिश्तेदारों को भेजने शुरू कर दिए! नतीजा ये हुआ कि सेन-फ्रांसिस्कों में फेसबुक के सर्वर ही जाम हो गये!” -टॉम ने सर पीटते इंजीनियरों के फोटो दिखाते हुए कहा।

“हमने जब संदेशों को इंटरसेप्ट किया तो जैसे हमारे हाथ खज़ाना ही लग गया, अदरक, नींबू, हल्दी, कपूर व लौंग के इस्तेमाल से कोरोना के खात्मे का जुगाड़ तो हमें मालूम ही नहीं था। हमने ये सारे मैसेज वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन (WHO) को जाँच के लिए भेज दिये, कल ही WHO से डॉक्टर झुनझुनवाला का फोन आया था कि मामी जी का नुस्खा सच में ‘कोरोना’ की ऐसी-तैसी कर देता है! ये सुनकर तो हम ख़ुशी से झूम उठे!” -टॉम ने आगे बताया।

जिस मामी ने लाखों लोगों की जिंदगी बचा ली, क्या हम उसे एक नोबेल पुरस्कार नहीं पकड़ा सकते? धिक्कार है हम पर! थैंक यू मामी!” -टॉम ने अपनी बात पूरी की और कानपुर फ़ोन मिलाने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें