Tuesday, 16th July, 2019

चलते चलते

'नशे के खिलाफ जंग छेड़ेंगे संजय दत्त' -यह सुनकर नशीले पदार्थों की बिक्री 400% तक बढ़ी

03, Sep 2018 By Ritesh Sinha

देहरादून. देश में नशे की समस्या कितनी बढ़ गई है, इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उत्तराखंड की राज्य सरकारने संजय दत्त को नशे के खिलाफ ब्रांड अम्बेसेडर बनाने का फैसला किया है। खबर है कि संजू बाबा ने ‘हाँ’ भी कर दी है। इसका मतलब यह हुआ कि अब संजू बाबा लोगों को नशा ना करने की हिदायत देते हुए नज़र आ सकते हैं। वहीँ, इस खबर पर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। उधर, जैसे ही लोगों को पता चला कि संजय दत्त नशे के खिलाफ अभियान चलाएँगे तो देश भर में नशीले पदार्थों की बिक्री अचानक चार सौ प्रतिशत तक बढ़ गई।

इसी के खिलाफ प्रचार करेंगे संजू बाबा
इसी के खिलाफ प्रचार करेंगे संजू बाबा

हालाँकि, यह पता नहीं चल पाया है कि अचानक लोगों को क्या हो गया है, लेकिन माना जा रहा है कि संजय दत्त वाली बात लोगों के गले नहीं उतर रही है, इसलिए सब पगला गए हैं। देहरादून के एक इज़्ज़तदार बेवड़े सोमकुमार ने हमें बताया कि “अब बाबा हमें बताएँगे कि नशा करना सेहत के लिए हानिकारक होता है? इतने बुरे दिन आ गए हमारे! खुद तो फिलिम में गरदा उड़ा दिए और हमें कह रहा है कि नशा मत करो!”

“इनका बस चले तो ये लोग ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए अर्नब को ब्रांड अम्बेसेडर बना देंगे! या विजय माल्या को स्टेट बैंक का कैशियर बना देंगे! मुझे तो लगता है ये समस्या अब  ऊपर तक पहुँच गई है, तभी तो ऐसा हो रहा है! लोग फालतू में हमें बदनाम करते रहते हैं! सच कहूँ ‘बाबा’ को ब्रांड अम्बेसेडर बनाने का आईडिया जिसने भी दिया है ना, उसको इनाम मिलना चाहिए!” -कहते हुए सोमकुमार जी सोमरस लेने चले गए।

उधर, संजू बाबा इस नयी जिम्मेदारी से फूले नहीं समा रहे हैं। उन्होंने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “नशे के खिलाफ अपुन जोर से लड़ेगा रे! हम उनको बताएगा कि नशा मत करो, हर आदमी की जिंदगी पर फिलीम नहीं बन सकती! बहुत पैसा लगता है फिलीम बनाने में! चुपचाप घर में बैठने का, नशा नहीं करने का!” -कहते हुए बाबा ‘अर्जेन्ट काम है!’ -कहकर चलते बने।



ऐसी अन्य ख़बरें