Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

सोनिया गाँधी के दोबारा कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही BCCI ने धोनी को बनाया कप्तान

11, Aug 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. दो महीने की कमरतोड़ डिस्कशन के बाद कांग्रेस पार्टी ने अपना नया अध्यक्ष ढूंढ लिया है, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी को फिर से पार्टी की कमान सौंप दी गई है। कांग्रेस पार्टी के नेताओं से जब हमने पूछा कि अगर सोनिया गाँधी को ही अध्यक्ष बनाना था तो दो महीने से किस बात पर बहस हो रही थी? तो गुलाम नबी आजाद ने बताया कि, “राहुल जी ने पहले ही अध्यक्ष बनने से इनकार कर दिया है, अब बच गईं सोनिया जी!

dhoni-sonia
खुशियों का दिन आया है!

और आपको तो पता है जब सामने सिर्फ एक कैंडिडेट हो तो चुनाव करने में देरी हो ही जाती है, अध्यक्ष बनने की रेस में तीन-चार लोग और होते तो फैसला जल्दी किया जा सकता था!” -आजाद ने आगे बताया।

उधर, वैज्ञानिकों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि जब किसी चुनाव में सिर्फ एक ‘कैंडिडेट’ हो तो चुनाव करने वालों को बहुत ज्यादा परेशानी होती है और समय भी ज्यादा लगता है। अतः ग़ुलाम नबी आजाद जी सौ प्रतिशत सच्ची बात कह रहे थे।

ये तो हुई कांग्रेस पार्टी की बात, लेकिन इस घटना के बाद BCCI की मानसिक स्थिति भी डोल गयी है। उन्होंने ‘धोनी’ को फिर से कप्तान बनाने का फैसला कर लिया है।

बीसीसीआई के मुख्य चयनकर्ता एम.एस.के. प्रसाद ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “हमें लगता है कि टीम में अब किसी पुराने व्यक्ति को कप्तान बनाये जाने की सख्त जरूरत है! ताकि नये लोगों को आगे बढ़ने से रोका जा सके!

“जब सोनिया गाँधी, कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष फिर से बन सकती हैं तो फिर धोनी में क्या बुराई है? हाँ, ये बात अलग है कि हमारा वर्तमान कप्तान मि. कोहली अच्छा काम कर रहा है और उनकी पार्टी का कप्तान..खैर छोड़ो इन बातों को!” -कहते हुए ‘प्रसाद’ धोनी को फोन लगाने लगे।

हालाँकि, यह पता नहीं चल पाया है कि धोनी कप्तान बनना चाहते हैं भी या नहीं! अगर वे कप्तान बन गये तो उन्हें अच्छी बल्लेबाज़ी करनी पड़ेगी! इसलिए हो सकता है वो यह प्रस्ताव ठुकरा दें।



ऐसी अन्य ख़बरें