Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

दोनों तरफ की शायरी देख, मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए मुशायरा करा सकते हैं महाराष्ट्र के राज्यपाल

20, Nov 2019 By Guest Patrakar

मुंबई. महाराष्ट्र चुनाव के नतीजे आये एक महीने होने वाले हैं लेकिन राज्य में सरकार का कोई अता-पता नहीं है, इतने समय में तो श्रीलंका वाले चार-चार बार सरकार बदल देते हैं, यहाँ एक सरकार नहीं बन पा रही है। कौन मुख्यमंत्री होगा ये तो बहुत दूर की बात है, किस पार्टी का होगा यही स्पष्ट नहीं है, हाँ एक चीज़ बड़े धड़ल्ले से चल रही है और वो है शायरी! दोनों ओर से शायरी हवा में उछाले जा रहे हैं।

kavi
कुछ ऐसा ही होगा दृश्य

यही वजह है कि महाराष्ट्र के राज्यपाल ने CM चुनने का नया तरीका ढूँढ निकाला है, यह नया तरीका है मुशायरे का! जी हाँ, महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री अब एक मुशायरे से तय होगा।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने हमसे बातचीत करते हुए कहा “मुख्यमंत्री ना होने के कारण महाराष्ट्र को बहुत तकलीफ़ें सहनी पड़ रही हैं, यहाँ के नेता, राजनीतिक सूझ-बूझ छोड़कर शेरो-शायरी में लगे हुए हैं! इसलिए मुझे ही कोई रास्ता निकालना था, ऐसे में मैंने तय किया कि हम सभी पार्टियों के बीच मुशायरे का आयोजन करेंगे! जिस पार्टी के सबसे ज्यादा पॉइंट होंगे उसी पार्टी का मुख्यमंत्री बना देंगे!”

उधर, उद्धव ठाकरे इस फैसले से काफी खुश हैं क्योंकि उन्हें संजय राऊत की शायरी पर पूरा भरोसा है, कांग्रेस ने ग़ुलाम नबी आजाद, NCP ने अजीत पवार और भाजपा ने दिग्गज NDA नेता रामनाथ अठावले को अपनी ओर से भेजने का निर्णय लिया है।

इस मुशायरे का सीधा प्रसारण भी किया जाएगा ताकि निर्णय प्रक्रिया पर कोई सवाल ना उठा सके। दर्शक अपने मोबाइल से वोट करके किसी भी पार्टी के शायर को जीतवा भी सकते हैं, जैसा कि रियलिटी शो वगैरह में होता है।

इसके अलावा राज्यपाल महोदय ने इस मुशायरे में चोरी किये हुए शायरियों को बोलने पर प्रतिबंध लगा दिया है, ट्रक के पीछे लिखे जाने वाले शायरियों को भी ब्लैक लिस्ट में डाल दिया गया है।

यह मुकाबला अगले महीने 7 दिसम्बर को रखा गया है और उम्मीद की जा रही है कि 8 दिसम्बर तक महाराष्ट्र को उसका नया, ताजा ‘मुख्यमंत्री’ मिल जाएगा।



ऐसी अन्य ख़बरें