Sunday, 18th November, 2018

चलते चलते

सास-बहू सीरियल देखते हुए रंगे हाथों पकड़ाया युवक, दोस्तों ने 'समझदारों' की लिस्ट से नाम हटाया

17, Aug 2018 By Ritesh Sinha

भोपाल. भावेश खरे की पत्नी कविता, सास-बहू सीरियल की दीवानी है, दूसरी महिलाओं की तरह उसे भी हर सीरियल की स्टोरी मुँह जुबानी याद है। कौन सास अपने बहू को ज्यादा दुःख देती है? किसका चक्कर किसके साथ चल रहा है? किसको मारने के लिए कौन साजिश रच रहा है? कविता को सब पता होते थे। वो टीवी देखने के नाम पर चौबीसों घंटे सीरियल ही देखती है, यही वजह है कि कविता के चक्कर में थोड़ा बहुत इंटरेस्ट भावेश भी ले लेता था।

serials
यही सब देख रहा था भावेश

पिछले रविवार को ऐसे ही भावेश न्यूज़ देखने की आशा लिए टीवी के पास बैठा था लेकिन कविता उसे चैनल बदलने नहीं दे रही थी, तो वह भी आधे मन से सीरियल देखने लगा। इसी दौरान उनके दोस्त उससे मिलने आ गए। उन्होंने देखा कि भावेश बड़े चाव से सास-बहू सीरियल देख रहा है तो उनकी आँखें फटी की फटी रह गईं। सभी दोस्त तुरंत उसके घर से उल्टे पाँव लौट गए और कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्होंने भावेश का नाम ‘समझदारों’ की लिस्ट से हटा दिया।

हालाँकि, भावेश हमेशा ये कहता था कि मैं डेली-सोप नहीं देखता क्योंकि सीरियल वाले एक ही कहानी को रबर की तरह खींचते हैं, ना कोई सेन्स ना थ्रिलर! इसके उलट वह डेली-सोप देखता हुआ पकड़ा गया।

गेम ऑफ़ थ्रोंस देखने वाले उसके दोस्त भुवन ने बताया कि “यार ये भावेश तो एकदम @#!#@$!! निकला! हम लोगों के सामने कहता था कि मैं गलत काम नहीं करता और वहाँ घर पे डेली-सोप का मज़ा ले रहा है! हम तो उसे एक समझदार आदमी समझते थे, लेकिन वो तो गद्दार निकला! जस्टिस काटजू ठीक ही कहते हैं..!”

“अबे उसकी हिम्मत नहीं है चैनल चेंज करने की, साला बिल्ली की तरह रहता है अपने घर में!” -एक और दोस्त ने बिना सबूत दिए दावा किया।



ऐसी अन्य ख़बरें