चलते चलते

तेज आवाज में अल्ताफ राजा के गाने सुनता था युवक, पड़ोसियों ने शिकायत की तो पुलिस ने 'क्वारंटाइन' में डाला

10, May 2020 By Ritesh Sinha

भोपाल. एरिया कॉलोनी में रहने वाले पंकज नाम के युवक को पुलिस ने उस समय उठा लिया जब वो तेज आवाज में अल्ताफ राजा के गाने सुन रहा था। उसके घर की तलाशी में पुलिस ने अल्ताफ राजा के गानों से भरा एक हार्ड-ड्राइव, दो बड़े साउंड बॉक्स और अल्ताफ के कुछ पोस्टर भी बरामद किये हैं।

altaf-raja
इनको ही सुनता था पंकज

विभिन्न धाराओं में केस दर्ज करने के बाद फिलहाल उसे क्वारंटाइन में डाल दिया गया है, जहाँ उसकी जमकर खातिरदारी की जा रही है।

दरअसल, पंकज के पड़ोसियों ने ही पुलिस में शिकायत की दर्ज की थी कि हमारी सोसायटी का एक लड़का ‘तुम तो ठहरे परदेशी’ से गानों की शुरुआत करता है और ‘आवारा हवा का झोंका हूँ’ तक होकर होता है, वो भी तेज आवाज में।

इन गानों की वजह से सोसायटी में चक्कर खाकर गिरने की घटना बढ़ती ही जा रही थी। लोग बड़े हलकान थे, उसे समझाने की कोशिश भी की गई पर कोई फायदा नहीं हुआ। आखिर में सोसायटी वालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी।

पंकज के पड़ोसी चंपक लाल ने बताया कि, “एक दिन मैंने उससे कहा कि बेटा, अगर गाने ही सुनना ही है तो कोई अच्छा सा गाना लगा दिया कर, हम भी मजे ले लेंगे!’ तो वो मुझ पर ही चढ़ बैठा! कहने लगा- ‘ज्यादा पंचायती ना करो अंकल, अभी तो अल्ताफ राजा के गाने सुन रहा हूँ, और परेशान किया तो हिमेश रेशमिया के गाने लगाना शुरू कर दूंगा!’ तब से मैं भी उससे डरने लगा था!” -चंपक ने सहमते हुए कहा।

उधर, पुलिस जब पंकज को गिरफ्तार करने पहुँची तो उस समय भी उसके घर से तेज आवाज आ रही थी- “तुम्हारे घर में दरवाजा है लेकिन तुम्हें खतरे का अंदाजा नहीं है, हमें खतरे का अंदाजा है लेकिन, हमारे घर में दरवाजा नहीं है!” यह सुनकर इंस्पेक्टर साब का माथा गरम हो गया और उन्होंने दरवाजा तोड़ दिया।

“पंकज को क्वारंटाइन में क्यों डाला गया है?” -ऐसा पूछे जाने पर SI बलबीर चौहान ने बताया कि, “क्योंकि आजकल यही चल रहा है.. वैसे भी ऐसे लोगों की अंदर से सफाई करनी बहुत जरूरी है, कुछ दिन अकेले में रहेगा तो सब भूल जाएगा!”



ऐसी अन्य ख़बरें