Tuesday, 17th September, 2019

चलते चलते

सेक्रड गेम्स का स्पॉयलर देने पर UAPA के अंतर्गत होगी कार्रवाई: अमित शाह

17, Aug 2019 By Guest Patrakar

 नयी दिल्ली. संसद के पिछले सत्र में केंद्र सरकार ने UAPA बिल, यानि की ‘विधि-विरुद्ध क्रियाकलाप विधेयक’ में कुछ संसोधन किये हैं। खबर ये है कि अब इस कानून के शुरुआती रुझान आने शुरू हो गए हैं, यह कानून देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने वाले लोगों को आतंकवादी घोषित कर कार्रवाई करने का अधिकार देती है। इसीलिए सरकार ने सेक्रड गेम्स सीज़न-2 के स्पॉयलार देने वालों को भी इसी कानून से हाँकने का निर्णय लिया है।

grrmartin-sacred-games
किसी को ना दें स्पॉयलर

सुनने में अजीब लगे लेकिन यह सच है कि पक्ष और विपक्ष दोनों ने इस फ़ैसले पर हामी भरी है। इस बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने गृहमंत्री अमित शाह से बात करी, उन्होंने बताया “जी हाँ यह सच है कि हम ‘UAPA’ में यह प्रावधान लेकर आ रहे हैं कि कोई भी व्यक्ति अगर सेक्रड गेम्स का स्पॉयलार देते पकड़ा गया तो उसके ऊपर ‘UAPA’ का बुलडोजर गिरा दिया जाएगा! छोड़ेंगे नहीं किसी को!”

इनफैक्ट, इसकी माँग स्वयं जनता ने हमसे करी है, लोग स्पॉयलर देने वालों से परेशान हैं! पिछले सीज़न के दौरान ही कई लोगों ने स्पॉयलर से तंग आकर जुर्म का रास्ता अपना लिया था। इसलिए इस बार ऐसा कुछ ना हो उसके लिए हमने यह फ़ैसला किया है! हमें यह क़ानूनी रूप से करने के लिए एक मामूली सा संशोधन करने की ज़रूरत पड़ेगी, जो कि हम संसद का आपातकाल सेशन बुलवाकर करवा लेंगे!” -शाह जी ने आगे कहा।

गृहमंत्री के अलावा हमने इस मुद्दे पर पर विपक्ष के नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद से भी बात की। उन्होंने कहा कि “पिछले साढ़े पाँच सालों में मोदी साहब का यह पहला ऐसा फ़ैसला आया है जो हमें पसंद आया है! हमारे राहुल जी वेब सिरीज़ के काफ़ी बड़े फ़ैन हैं लेकिन रोज़ की भागदौड़ में उन्हें कोई सीरिज़ देखने का मौक़ा नहीं मिलता! ऊपर से उन्हें आए दिन लोग स्पॉयलर दे देते हैं!

इस नियम के बाद अब कोई भी यह काम करने से पहले सौ बार सोचेगा! मेरी मोदी सरकार से एक और गुज़ारिश है कि यह क़ानून केवल सेक्रड गेम्स नहीं बल्कि अन्य वेब सीरीज के लिए भी बनाए!”

वैसे इस फ़ैसले के बाद सेक्रड गेम्स के व्यूज़ ज़रूर कम होंगे क्योंकि भारत में आधे से ज़्यादा लोग तो केवल इसलिए शो देखते हैं ताकि और लोगों को बताकर उनका मज़ा ख़राब कर सकें।



ऐसी अन्य ख़बरें