Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

हाउसफुल-4 के गीतकारों पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई तत्काल रोक, कहा- "रूमाल से मुँह ढँककर ही निकलें घर से बाहर!”

09, Oct 2019 By किल बिल पांडे

नई दिल्ली. मुंबई की ‘आरे’ कॉलोनी में पेड़ों की कटाई को लेकर एक्शन मोड में आये सुप्रीम कोर्ट ने, हाउसफुल-4 के गीतकारों पर भी अपना रुख सख्त करते हुए बड़ा फैसला लिया है। नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने हाउसफुल-4 के गीतकारों पर फौरी तौर पर रोक लगा दी है।

jpg

हाउसफुल-4 के गाने रिलीज़ होने के बाद से ही, देशभर में सरदर्द की परेशानी झेल रहे छात्रों के संगठन की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया और अगली सुनवाई तक गीतकारों के कुछ भी लिखने पर रोक लगा दी है।

इस आदेश के बाद  गीतकारों के घर से पेन, पेन्सिल, नोटबुक, लैपटॉप आदि को भी ज़ब्त कर लिया गया है।

दालत ने महाराष्ट्र सरकार से इस बारे में ताज़ा रिपोर्ट मांगी है, कोर्ट ने सख्त लहजे में कहा कि, ‘जो गलत है, वो गलत है! ऐसे गीतकारों को खुला नहीं छोड़ा जा सकता, इन लोगों से कहो कि ये घर से निकलें तो मुँह छुपाकर निकलें!”

अदालत में सुनवाई के दौरान जस्टिस तरुण मिश्रा ने, हाउसफुल-4 के निर्माताओं से ऐसे गाने बनाने की वजह के बारे में पूछा। जिस पर निर्माताओं ने जवाब दिया कि, “यह तो स्क्रिप्ट की डिमांड थी!” इस पर जस्टिस मिश्रा ने जब स्क्रिप्ट हाज़िर करने को कहा तो फ़िल्म निर्माता कोई भी दस्तावेज़ अदालत के सामने पेश नहीं कर पाए।

यह सुनकर गुस्साये जस्टिस मिश्रा ने निर्माताओं पर धारा-420 लगाते हुए अलग से जुर्माना ठोक दिया। कानून विशेषज्ञ मानते हैं कि इससे फिल्म की रिलीज़ पर भी असर पड़ सकता है।

अदालत ने सेंसर बोर्ड को भी फटकार लगाते हुए कहा कि, ”जब आप लोगों को बराबर फिल्मों पर कैंची चलाने के लिए रखा हुआ है, तो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक ऐसी चीज़ें बाहर कैसे आ जाती हैं? लगता है आपका भी निजीकरण करना पड़ेगा!”

सूत्रों की मानें तो जस्टिस मिश्रा ने, केस की तह तक जाने के चक्कर में फिल्म के एक-दो गाने सुन लिए थे तभी से उनकी तबियत भी थोड़ी ख़राब हो गयी है।



ऐसी अन्य ख़बरें