चलते चलते

निरुपा रॉय की एक्टिंग देखकर भावुक हुआ इंजीनियर युवक, घर आकर माँ से कहा- "तुम्हें लाला के यहाँ काम करने की जरूरत नहीं है माँ!"

04, Jan 2020 By Ritesh Sinha

इंदौर. हिंदी सिनेमा की ‘माँ’ निरुपा रॉय की एक्टिंग देखकर एक इंजीनियर युवक इतना भावुक हो उठा कि उसने पढ़ाई-लिखाई छोड़ दी और सीधे अपने घर आ पहुँचा। मामला इंदौर शहर का है जहाँ किशोर महाजन नाम का यह युवक ‘सेठ गोबर्धनदास इंजीनियरिंग कॉलेज’ में ‘बीई’ की पढ़ाई कर रहा था। किशोर का कहना है कि अब वो वापस कॉलेज नहीं जाएगा और घर पर रहकर ही माँ-बाप की सेवा करेगा।

nirupa-ji
इसी सीन को देखकर भावुक हुआ किशोर

हुआ यूँ कि किशोर कल शाम को अपने रूम में बैठकर टीवी देख रहा था, टीवी में निरुपा रॉय अभिनीत एक फिल्म आ रही थी। फिल्म में दिखाया गया कि निरुपा जी अपने बच्चों का पेट पालने के लिए ‘लाला’ के यहाँ नौकरी करती है और ‘लाला’ उसकी मेहनत के ठीक से पैसे भी नहीं देता।

बस, यही सीन देखकर किशोर की आँखों में आँसू आ गये। उसने घर जाने की ठान ली, आज सुबह ही उसने अपनी सारी पुस्तकें रद्दी वाले के पास बेच दी और पहली बस पकड़कर घर की ओर कूच कर गया।

घर पहुँचते ही उसने अपना डायलॉग बोलना शुरू कर दिया- “मैं आ गया हूँ माँ, आज से तुम्हें उस ‘लाला’ के पास नौकरी करने की कोई जरूरत नहीं है, आज से घर का खर्चा मैं चलाऊँगा! भाड़ में गयी ‘बीई’ की डिग्री, वैसे भी मैं पास नहीं हो रहा था!

मैं आज ही शहर के मशहूर स्मगलर, साहनी सेठ के पास नौकरी माँगने जाऊँगा! दो साल हॉस्टल में रहकर स्मगल करना ही तो सीखा है, वो कब काम आएगा? अब आप लोगों को हर महीने पैसे भेजने की जरूरत नहीं है!” -किशोर ने एटीट्यूड से कहा।

थोड़ी देर बाद किशोर के पिताजी भी वहाँ आ गये। किशोर की हालत देखकर उन्होंने भाँप लिया कि ये ओवर-एक्टिंग कर रहा है, उसने किशोर को खड़े होने के लिए कहा और उसके पिछवाड़े में लात मारकर वापस कॉलेज भेज दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें