Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

थरूर की कॉमेडी से घायल लोग रामदास अठावले की कविता सुनें! लोहे को लोहा काटता है!" -AIIMS के डॉक्टरों ने चेताया

15, Nov 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. कांग्रेस पार्टी के गरिष्ठ वरिष्ठ नेता शशि थरूर आजकल स्टैंड-अप कॉमेडी की दुनिया में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। अपनी भारी-भरकम अंग्रेजी के लिए कुख्यात थरूर, इसी अंग्रेजी का सहारा लेकर दर्शकों को हँसाते हुए नज़र आ रहे हैं।

shashi-ramdas
लोहे को लोहा काटता है ..

कॉमेडी की दुनिया में थरूर की एंट्री से कुछ लोग चिंतित भी हैं, उन्हें शक है कि थरूर के जोक्स सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं। इसे सुनकर कुछ लोगों की याददाश्त भी जा सकती है या फिर वो कोमा में भी जा सकते हैं।

हालाँकि घबराने की बात नहीं है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान महासंस्थान दिल्ली यानि कि AIIMS दिल्ली के डॉक्टरों ने उनके जोक्स के कहर से बचने का उपाय पहले ही ढूँढ निकाला है।

एम्स के मनो-चिकित्सा विभाग में काम करने वाले डॉक्टर परमजीत सोढ़ी ने बताया कि, “थरूर तो पहले भी झेला नहीं जाता था, ऊपर से अब उसने कॉमेडी शुरू कर दी है, यानि एक तो करेला, दूजा नीम चढ़ा!

देखिए! इन चीजों से जितना दूर रहा जाए उतना ही अच्छा है, फिर भी अगर आपने गलती से शशि थरूर की कॉमेडी देख ली है तो घबराने की जरूरत नहीं है , हमने इसका तोड़ भी ढूँढ निकाला है!” -डॉक्टर साब ने एक मोटी सी पुस्तक के पन्ने पलटते हुए कहा।

थरूर की तरह एक और सांसद हैं, नाम है रामदास अठावले! ये भी खतरनाक किस्म के कविता लिखते हैं, जैसे ‘लोहा’ लोहे को काटता है वैसे ही अठावले की कविता थरूर के जोक्स पर एंटी-बायोटिक जैसा काम करती है! कैसा भी पुराना जख्म हो. दस तोला तुकबंदी सुना दीजिए, सब ठीक हो जाएगा!” -डॉक्टर साब ने एक मरीज के लिए तीन पेज दवाइयाँ लिखते हुए कहा।

साथ ही डॉक्टरों ने एडवायजरी जारी की है कि मरीज अनावश्यक रूप से ना घबराएँ और अफवाहों पर ध्यान ना देवें! यह बीमारी जानलेवा नहीं है, इसका इलाज संभव है।

गौरतलब है कि रामदास अठावले जी अपनी तुकबंदी के लिए जाने जाते हैं, संसद में उनकी चार तोला कविताओं ने कई बार गदर मचाया है। फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए अठावले जी ने अपने अंदाज में कहा कि, “थरूर की कॉमेडी सुनकर, मिटे ना मन का फेर, रोगी को तुरत रिफर करो, जरा भी ना करो देर! थरूर के जोक्स हैं खतरनाक पर मेरी सुंदर कविताएँ कर देंगी उसे पल में ढेर!



ऐसी अन्य ख़बरें