Monday, 26th August, 2019

चलते चलते

बिना माँ-बहन की गाली वाली मूवीज को मिला नेशनल अवार्ड, बॉलीवुड सदमे में

10, Aug 2019 By गोबर जी

मुंबई. राष्ट्रीय फिल्म पुरुस्कारों की घोषणा कर दी गई है, ‘अंधाधुन’ ‘बधाई हो’ और KGF जैसी फिल्मों को इस वर्ष यह अवार्ड प्राप्त हुआ है। पुरुस्कारों की लिस्ट देखकर मूवीज फैन सकते में आ गये हैं क्योंकि उनकी देखी हुई फिल्मों को नेशनल अवार्ड मिलना किसी अजूबे से कम नहीं है। अभी तक ये अवार्ड “अन्ना मलाई चिकन खिलाई” जैसी फिल्मों को ही दिये जाते थे।

gangs-abuse
ऐसी फिल्मों को नहीं मिला अवार्ड

इस मौके पर फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए महान डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने बताया कि, “हम तो पहले से ही कह रहे हैं कि मोदी सरकार में जनमानस की आवाज़ को दबाया जा रहा है! बिना माँ-बहन की गाली वाली फिल्म को राष्ट्रीय पुरूस्कार मिल रहा है, ये फासीवाद नहीं है तो क्या है?”

भावनाओं को व्यक्त करने की स्वतंत्रता ही नहीं है, बताओ? अगर इस साल कोई अच्छी (गाली वाली) फिल्म नहीं आयी, तो मेरी कोई पुरानी फिल्म को ही अवार्ड दे देते!” -अनुराग ने अपने वाक्य में गालियों का लेपन चढ़ाते हुए कहा।

कॉलीवुड के डायरेक्टर्स और एक्टर्स को भी बहुत बड़ी निराशा हाथ लगी है, उनका मानना है कि अवार्ड ऐसी फिल्मों को मिलना चाहिए जो सामान्य लोगों को समझ में ना आये और हमारी मूवीज इस मामले में अव्वल हैं। यकीन ना हो तो बिना सबटाइटल्स के समझ के बता दो! और अगर आप सिनेमेटोग्राफी की बात करते हो तो प्रिया वारियर का नैन-मटक्का ही देख लो!

उधर, देश की महान बुद्धिजीवी चरखा दत्त ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, “देश अति-राष्ट्रवाद की ओर तेज़ी से बढ़ता जा रहा है, विक्की कौशल जैसे कलाकारों को बेस्ट एक्टर अवार्ड मिलना बहुत ही खतरनाक संकेत हैं! देश को अब सही राह पर लाना बहुत मुश्किल लग रहा है!”

इधर मूवी फैन इन फिल्मों को दोबारा देखने का प्लान बना रहे हैं ताकि इस बार इन्हें ‘कला’ की नज़रों से देखा जा सके।



ऐसी अन्य ख़बरें