Sunday, 18th November, 2018

चलते चलते

प्रियंका-निक की सगाई पर ट्रम्प से बोले मोदी- "हमारी पुरानी दोस्ती आज रिश्तेदारी में बदल गयी"

28, Jul 2018 By Fake Bank Officer

जोहानिसबर्ग. प्रियंका चोपड़ा और निक जोनास की सगाई की ख़बर से देश का मीडिया ही नही, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी काफी उत्साहित हैं। ब्रिक्स देशों के नेताओं के साथ जब मोदी जी की मीटिंग चल ही रही थी कि तभी उनके पास अर्नब गोस्वामी का व्हॉट्सएप मैसेज आया।

Trump-Modi.png
ट्रंप को सगाई की बधाई देते मोदी जी

मैसेज में प्रियंका चोपड़ा और निक जोनास की तस्वीरों के साथ सगाई की ख़बर भी थी। मैसेज पढ़ते ही मोदीजी ‘एक्सक्यूज़ मी’ बोलकर मीटिंग से बाहर आ गए और अर्नब को फ़ोन लगाकर चटखारे लेते हुए पूरी खबर सुनी।

इसके बाद उन्होंने तुरंत ही अपने लंगोटिया यार और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को फ़ोन लगाकर बधाई दी- “मुबारक हो मित्र! आज हमारी बरसों पुरानी दोस्ती रिश्तेदारी में बदल गयी। सारे सवा सौ करोड़ भारतीय मेरे बच्चे हैं इसीलिए आज से हम दोनों समधी हुए।” सत्तर के दशक की फिल्मों वाला डायलॉग मारते हुए मोदी जी बोले।

ट्रम्प ने भी उधर से ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा- “आप बिलकुल फिक्र ना करें। आज से प्रियंका हमारी बहू है। यहाँ उसको ज़रा भी तकलीफ नही होने देंगे, बेटी बनाकर रखेंगे!”

अचानक आयी इस ख़बर से भारत के न्यूज़ चैनल के एंकरों के चेहरे खिल गये हैं। पाकिस्तान के चुनाव और इमरान की न्यूज़ को बीच में ही बंद कर चैनलों ने निक और प्रियंका की जन्मकुंडली निकल ली। अलग-अलग चैनलों पर अलग-अलग एक्सपर्ट बहस कर रहे हैं कि क्या प्रियंका ने एक 11 साल छोटे विदेशी से सगाई कर सही फैसला किया है। ख़बर लिखे जाने तक एक्सपर्ट किसी नतीजे पर नही पंहुच पाये थे।

इस बीच, प्रियंका की निक से सगाई के पीछे अलग-अलग कयास लगाये जा रहे हैं। कुछ लोगों का मानना है कि मुम्बई में प्लास्टिक बैन हो जाने के बाद प्रियंका के पास विदेश में घर बसाने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था। वहीं कुछ लोगों का मानना है कि आधार कार्ड के झंझट से बचने के लिए प्रियंका ने एक विदेशी से शादी का फैसला किया। बहरहाल, प्रियंका और निक की सगाई की पुष्टि करने के लिए कुछ लोग RTI का भी सहारा ले रहे हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें