Wednesday, 19th December, 2018

चलते चलते

एम. जे. अकबर के जीवन की घटनाओं पर आधारित होगी 'मस्तराम' की अगली किताब

04, Dec 2018 By Fake Bank Officer

नयी दिल्ली. मस्तराम के पाठकों के लिए एक अच्छी खबर है। किसी ज़माने में अपनी उत्तेजक  कहानियों से धूम मचाने वाले ‘मस्तराम’ अब एक बार फिर से नयी किताब लेकर आ रहे हैं। पुस्तक का यह बहुप्रतीक्षित संस्करण कुछ काल्पनिक कहानियों का संग्रह मात्र न होकर भारत के पूर्व विदेश राज्य मंत्री और हाल ही में #Metoo के शिकार हुए एम. जे. अकबर के जीवन की घटनाओं पर आधारित होगी।

akbar
Cover Page

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए मस्तराम, जो कि काफी बूढ़े हो चुके हैं, ने बताया कि “आजकल मोबाइल और इंटरनेट के ज़माने में कोई भी मेरी पुस्तकों में दिलचस्पी नही ले रहा है, इसीलिए मैंने साहित्य सेवा बंद कर दी है, लेकिन अभी कुछ दिन पहले जब मैंने अख़बारों में इन महाशय के कारनामों की दास्तान पढ़ी तो मुझे यकीन हुआ कि मेरा साहित्य व्यर्थ नही गया है! फिर से शुरुआत की जा सकती है!”

“उसी टाइम मैंने तय कर लिया कि मेरी अगली पुस्तक अकबर साहब के जीवन की घटनाओं पर आधारित होगी!  इसके लिए मैं लगातार उनके संपर्क में हूँ, पहले तो उन्होंने अपने बारे में छपी इन खबरों को बेबुनियाद बताया पर जब मैंने उनसे रॉयल्टी वगैरह की बात की तो वे झट से मान गए! चार पैसे कौन नहीं कमाना चाहता भला!”

“मुझे उम्मीद है कि यह पुस्तक मेरी पिछली बेस्टसेलर ‘भांग के पकौड़े’ और ‘कच्ची कलियाँ’ से भी ज्यादा बिकेगी!” मस्तराम ने उत्तेजित होते हुए बताया।

वहीँ, हमारे संवाददाता ने इस मामले पर एम. जे. अकबर से भी बात की तो उन्होंने बताया कि, “चूंकि मंत्री के पद से हट जाने के बाद आजकल मैं खाली बैठा हूँ तो रॉयल्टी की खातिर ‘मस्तराम’ से समझौता कर लिया! कुछ गलत किया क्या?”

साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मस्तराम से उन्होंने इस किताब की प्रस्तावना लिखने की इच्छा भी ज़ाहिर की है। इसके बाद अकबर साहब ने हमारे संवाददाता को बहुत सारे चटपटे किस्से सुनाए जो #Metoo के हवाले से आए थे। “ये सभी कहानियाँ अब मैंने मस्तराम को बेच दी हैं!” -कुटिल मुस्कान के साथ उन्होंने कहा।



ऐसी अन्य ख़बरें