Saturday, 20th April, 2019

चलते चलते

दस सेकेंड में स्लिम-फिट करने का दावा करने वाले विज्ञापन को 'डिस्कवरी' चैनल समझकर देखता रहा युवक

04, Apr 2019 By Ritesh Sinha

भागलपुर. आकाश यादव का मुँह उस समय खुला का खुला रह गया जब उसे पता चला कि वैज्ञानिकों ने दस सेकेंड में पतला करने की तकनीक ढूँढ निकाली है। आकाश ने बताया कि उन्हें यह जानकारी डिस्कवरी चैनल देखने के बाद पता चली है।

slim
इसी को देखता रहा आकाश

“मुझे साइंस वगैरह बहुत पसंद है, इसलिए मैं डिस्कवरी ही देखता हूँ, कल इसमें एक बहुत अच्छा प्रोग्राम आ रहा था! पहले एक मोटी लड़की स्क्रीन पर आई और कहने लगी कि ‘मेरे थुलथुल पेट की वजह से मेरे पति मुझे पार्टियों में नहीं ले जाते थे!

तभी मेरी मौसी ने मुझे ये बेल्ट खरीदने की सलाह दी! दस सेकेंड में नतीजा आपके सामने है। अब मैं कोई भी वेस्टर्न ड्रेस आसानी से पहन लेती हूँ!” -आकाश ने अपने टीवी देखने का अनुभव सुनाया।

“दुनिया कहाँ से कहाँ पहुँच गई है, नई? साला दस सेकेंड में आदमी मोटे से पतला हो जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर हेमा मालिनी खेत में हँसिया लेकर गेहूँ काट रही है! कुछ भी असंभव नहीं है!” -आकाश ऐसा कह ही रहा था कि उसके दोस्त चुम्मन ने उसे बताया कि “अबे जो तू टीवी पे देख रहा था, वो डिस्कवरी चैनल का शो नहीं था! वो तो एक विज्ञापन है, जो दस सेकेंड में पतला करने का दावा करता है!”

यह सुनकर आकाश के पैरों तले से ज़मीन खिसक गई। उसने अपनी आँखों को चौड़ा करते हुए कहा, “ऐसा क्या? मैं तो इसे वैज्ञानिकों की नयी खोज मानकर चल रहा था, अच्छा किया जो तूने बता दिया! ये डिस्कवरी वाले भी ना, साइंस के नाम पर कीड़ा-मकौड़ा खाने वाले को दिन भर दिखाते हैं और विज्ञापन के नाम पर दस सेकेंड में पतला करने वाली बेल्ट!

“लगता है उनके पास भी कंटेंट की कमी है!” -कहते हुए उसने सेट मैक्स लगाया और साउथ की डब फिल्म देखने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें