Tuesday, 15th October, 2019

चलते चलते

'जजमेन्टल है क्या' का नाम अगर 'मेन्टल है क्या' होता तो लोग उसे मेरी बायोपिक समझते - कंगना

23, Jul 2019 By बगुला भगत

मुंबई. कंगना रनौत ने अपनी आने वाली फ़िल्म ‘जजमेन्टल है क्या’ के बारे में एक चौंकाने वाला ख़ुलासा किया है। कंगना का कहना है कि इस फ़िल्म का नाम पहले ‘मेन्टल है क्या’ था, जिसे मेरी वजह से बदलकर ‘जजमेन्टल है क्या’ कर दिया गया।

Judgemental-Hai-Kya
अब बायोपिक नहीं समझेंगे लोग!

फ़िल्म के प्रमोशन प्रोग्राम में पहले तो कंगना ने चार-पाँच पत्रकारों की माँ-बहनों को मिलाकर एक किया। उसके बाद बताया कि प्रोड्यूसर एकता कपूर को डर था कि अगर हमने पिच्चर का नाम ‘मेन्टल है क्या’ रखा तो लोग उसे मेरी बायोपिक समझेंगे और फ़िल्म की लंका लग सकती है।

“क्योंकि मैं अपनी रियल लाइफ़ में भी बिल्कुल वैसी ही हरकतें करती हूँ, जैसी मैंने इस फ़िल्म में ‘बॉबी’ बनकर की हैं, इसलिए लोगों को 100% यही लगता कि ये मेरी बायोपिक है।” – कंगना ने एक मरे हुए कॉकरोच पर नींबू छिड़कते हुए कहा।

“एक्चुअली, मैंने तो एकता से कहा था कि फ़िल्म में मुझे और रंगोली को ही ले लो, हम दोनों बहनें ऊट-पटाँग हरकतें करती हुई एकदम ऑरिजिनल लगेंगी। लेकिन वो कहने लगी कि पिच्चर में कुछ चूमा-चाटी के सीन भी हैं, इसलिए एक मेल कैरेक्टर तो लगेगा ही!” – वो कॉकरोच पर नमक डालते हुए बोलीं।

“एक्चुअली, मेरे लिए तो इस पिच्चर की शूटिंग करना अपने घर पे रहने जैसा ही था, हाँ…बेचारे राजकुमार को मेन्टल दिखने में काफ़ी प्रॉब्लम आयी।” – कंगना ने कॉकरोच को मुँह में डालते हुए कहा और फिर अजीब ढंग से हँसने लगीं।



ऐसी अन्य ख़बरें