Sunday, 26th January, 2020

चलते चलते

जीवन में कभी गुटखा नहीं चबाया था युवक ने, अजय देवगन को सपोर्ट करने के बाद उसकी जेब से बरामद हुआ 'विमल' का जखीरा

13, Jan 2020 By Ritesh Sinha

भोपाल. अंकित दुबे शहर का एक होनहार नौजवान है और पढ़ने लिखने में भी अच्छा है! ना दारू पीता है ना सिगरेट, गुटखे को तो वो दूर से ही नमस्कार कर देता है, ऐसे में  फेसबुक पर लड़कियों की फोटो निहारने के अलावा उसमे कोई दोष नहीं है!

Ajay-Devgan-Vimal-Pan-Masala
इसी के झाँसे में आ गया अंकित

लेकिन पिछले एक हफ्ते में उसके जीवन में बड़ा बदलाव आया है! ‘तान्हाजी’ और ‘छपाक’ वाले लफड़े में अंकित ने फैसला किया कि वो अजय देवगन को सपोर्ट करेगा! नतीजा यह हुआ कि अब वो गुटखा खाना सीख गया है और कल ही उसके घरवालों ने उसकी जेब से ‘विमल’ गुटखे का जखीरा बरामद किया है!

दरअसल, दीपिका-अजय वाले मामले में बात यहाँ तक पहुँच गयी थी कि दीपिका जिस प्रोडक्ट का प्रचार करती हैं उसका बॉयकॉट तक किया जा रहा था, अंकित ने सोचा कि सिर्फ बॉयकॉट से काम नहीं चलेगा, अजय देवगन जिस प्रोडक्ट का प्रचार करते हैं उसकी बिक्री भी बढ़ानी पड़ेगी ताकि विरोधियों को सबक सिखाया जा सके!

बस, इसी चक्कर में अंकित ने एक झोला ‘विमल’ पान मसाला खरीद लिया और गली-मोहल्लों के लड़कों को फ्री में बाँटने लगा। जाहिर है इसी अभियान के दौरान उसे भी गुटखा खाने की लत लग गयी और वो अब दिन भर में बीस पाउच ‘विमल’ चबाकर थूक देता है।

अंकित की जेब से गुटखे का जखीरा बरामद करने वाले उसके बाप, लालसिंह दुबे ने बताया कि, “इस नालायक को ये सब करने की क्या जरूरत थी! कौन सा वो एक्टर तुम्हें मुंबई से आकर पैसे दे देगा?

अगर सपोर्ट ही करना है तो एक दिन जाकर फिलीम देख ले और बात को ख़तम कर! इतना पंचायती करने की क्या जरूरत थी? घर के दीवारों पर रंगोली बना दिया है नालायक ने!” -कहते हुए वो हमें दीवारों पर लाल निशान दिखाने लगे।

इस पूरी घटना पर हमने अजय देवगन से प्रतिक्रिया भी लेनी चाही लेकिन वो पैसा गिनने में व्यस्त थे तो उन्होंने हमसे बात करने से मना कर दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें