चलते चलते

बहुत दिन बाद ग्राहक को देखकर भावुक हुआ शो रूम का मालिक, कार खरीदने आये युवक से ब्याह दी अपनी बेटी

08, May 2020 By Ritesh Sinha

रायपुर. लॉकडाउन में थोड़ी छूट मिलते ही ‘आशीर्वाद ऑटो’ के मालिक सदानंद आहूजा ने कल पहली बार अपनी दुकान खोली थी, पिछले दो महीने में ना उन्होंने एक कार बेची थी और ना ही किसी ग्राहक का मुँह ही देखा था। यही वजह है कि वो थोड़ा भावुक फील कर रहे थे।

car-dealer
अपने दामाद को कार दिखाते सदानंद जी

सुबह दस बजे की बात है, आहूजा जी शो रूम की साफ़-सफाई करने के बाद अगरबत्ती लगा रहे थे, तभी एक छरहरा युवक उनकी दुकान में आया और मारुती एर्टिगा की ऑन-रोड कीमत पूछने लगा।

आहूजा जी को इतनी जल्दी किसी ग्राहक के आ जाने की कोई उम्मीद नहीं थी, उन्होंने उस युवक के पैर पकड़ लिये,  बड़े आदर के साथ चक्के वाली कुर्सी में बिठाया और पीने के लिए पानी भी दिया। ‘एसी’ चालू करने में तीन सेकंड की देरी हुई तो सुरेश नाम के स्टाफ को  गंदी गालियाँ भी दीं।

इतना सब करने के बाद भी उनके अंदर से आवाज आ रही थी कि, “बहुत दिन बाद कोई ग्राहक आया है, मुझे इसके लिए कुछ और करना चाहिए!” बस इसी चक्कर में वो इतनी तेजी से भावनाओं में बहते चले गये कि उन्होंने अपने बेटी की शादी उस युवक से कर दी। अब वो थोड़ा अच्छा फील कर रहे हैं।

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए आहूजा जी ने बताया कि, “क्या बताएँ भाईसाब, कोरोना ने हमारी कमर तोड़ दी है, ना हम स्टाफ को वेतन दे पा रहे हैं और ना बिजली बिल चुकाने तक के पैसे निकल रहे थे! खैर, अब शो रूम्स को खोलने की अनुमति मिल गई है तो थोड़ी राहत है!

कल ये लड़का, जो अब मेरा दामाद बन गया है, मेरा पहला ग्राहक बनकर आया था, मुझे तो यकीन ही नहीं हुआ कि इतनी जल्दी बोहनी कर लूंगा, मैं खुशी से पागल हो उठा, फ्लो-फ्लो में मैंने उससे अपनी बेटी ब्याह दी! जो गाड़ी, वो मेरे शो रूम में खरीदने आया था, वही गाड़ी मैंने उसे शादी का गिफ्ट समझकर दे दी है!” -कहते हुए आहूजा जी एक नये ग्राहक को निबटाने लगे।

“जब हमने उनसे पूछा कि उस युवक का नाम क्या है?” -तो आहूजा जी ने कार की चाबी से अपना कान खुजाते हुए कहा कि, “अरे भाईसाब! जान पहचान तो होती रहेगी, इतनी जल्दी भी क्या है?”



ऐसी अन्य ख़बरें