Tuesday, 31st March, 2020

चलते चलते

कोहरे का फायदा उठा कर देश से फरार हुए कर्ज में डूबे दो व्यापारी, विपक्ष ने मोदी सरकार को घेरा

01, Jan 2020 By abhishekrgk

एजेंसी. एक तरफ जहाँ पूरा उत्तर भारत ठंड की मार झेल रहा है वहीं एक चौंकाने वाली खबर आ रही है। सूत्रों के अनुसार दिल्ली में पड़ रहे जबरदस्त कोहरे का फायदा उठाकर देश के दो जाने माने व्यापारी भारत छोड़कर भाग गये हैं। आरोप है कि उन दोनों पर स्टेट बैंक का करीब 3000 करोड़ रुपए कर्ज था।

plane

निशांत मोदी और पुनित माल्या नाम के दो बड़े कपड़ा व्यापारी, जिनका खोखा चांदनी चौक पर चलता था, पिछले दो दिनों से अपने परिवार समेत फरार चल रहे हैं। ये मामला प्रकाश में तब आया जब तैमूर नये साल के लिए कपड़े खरीदने उनके दुकान पर पहुँचे लेकिन दुकान में ताला लटका मिला। अगल-बगल के दुकानदारों से पूछने पर पता चला कि इनकी दुकानें तो पिछले 2 दिनों से खुली ही नहीं।

मामला प्रकाश में आते ही दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर लिया और प्रारंभिक जांच में ये खुलासा हुआ कि इंदिरा गांधी अंतराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर बहुत अधिक कोहरा होने के कारण दोनों व्यवसायी भागने में कामयाब हो गए।

एक तरफ जहाँ ये खबर देशभर के मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है, वहीं विपक्ष मोदी सरकार को घेरने में लगा हुआ है। आज राहुल गाँधी ने एक प्रेस वार्ता में आरोप लगाया कि, “इस घटना में मोदी सरकार का हाथ है, मोदी सरकार ने विजय माल्या और नीरव मोदी को भी तो भगाया था तो इनको भी भगा ही दिया होगा!”

साथ ही उन्होंने उन दोनों को ‘भगोड़ा’ घोषित करने की मांग की और लगे हाथों मोदी जी का इस्तीफा भी मांग लिया। कुछ ऐसा ही आरोप सभी विपक्षी नेताओं ने लगाया, बस मायावती जी को छोड़ कर। मायावती जी का फर्रा गुम होने के कारण प्रेस वार्ता रद्द करनी पड़ी।

निशांत मोदी और पुनित माल्या मामले को तूल पकड़ता देख भाजपा ने आनन-फानन में प्रेस वार्ता बुलाई और देश की जानी मानी अर्थशास्त्री श्रीमती निर्मला सीतारमण, जो कि भारत की वित्त मंत्री भी हैं, ने सभी आरोपों का मुँहतोड़ जवाब दिया।

श्रीमती सीतारमण ने बैंक के कागज दिखाते हुए आरोप लगाया कि निशांत मोदी और पुनित माल्या को कर्ज कांग्रेस के ही सरकार ने दिया था और ये भी स्पष्ट किया कि हमारी ‘मौसम’ से कोई साठगांठ नहीं जो हमने ही कोहरा करवाया हो।



ऐसी अन्य ख़बरें