Tuesday, 17th September, 2019

चलते चलते

ट्रैफिक विभाग की इन्कम देखकर रिजर्व बैंक के अफसर हैरान, कर्जा लेने पहुँचे RBI गवर्नर

04, Sep 2019 By Ritesh Sinha

मुंबई. केंद्र सरकार को 1.76 लाख करोड़ रुपये ट्रांसफर करने के बाद रिजर्व बैंक के पास पैसों की भारी कमी हो गई है, किसी भी आपात स्थिति से निपटने में RBI के पसीने छूट सकते हैं। यही वजह है कि रिजर्व बैंक ने अभी से पैसों का जुगाड़ करना शुरू कर दिया है। RBI ने महारष्ट्र के ट्रैफिक विभाग से क़र्ज़ लेने का मन बना लिया है क्योंकि आजकल उनके पास बहुत पैसा है।

rbi
देश का नया रिजर्व बैंक

सूचना मिली है कि रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कल शाम को मुंबई के ट्रैफिक विभाग के मुख्यालय का दौरा किया और विदड्रॉल फॉर्म भी भर दिया है।

पिछले पाँच दिनों में मुंबई की ट्रैफिक पुलिस ने राज्य भर में चालान काटकर जो पैसा इकठ्ठा किया है उसे RBI को क़र्ज़ के रूप में दे दिया जाएगा। गवर्नर साब ने कहा है कि यह कर्ज दस साल में वापस कर दिया जाएगा।

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए रिजर्व बैंक के एक बड़े अफसर ने बताया कि, “क्या दिन देखना पड़ रहा है भाईसाब, पहले हम सबको कर्ज बाँटा करते थे और आज खुद हमें ट्रैफिक पुलिस वालों से क़र्ज़ लेना पड़ रहा है!

पैसों के लाले पड़ गये हैं, सरकार सब कुछ समेटकर ले गई! पहले हम वर्ल्ड बैंक के पास जाने वाले थे लेकिन हमारे ऑफिस के चपरासी ने बताया कि ट्रैफिक वाले आजकल बहुत कमा रहे हैं, वहीँ से कर्ज ले लो.. यह सुनते ही हमारे गवर्नर साब दौड़ते हुए इनके पास आ गये और विदड्रॉल फॉर्म भर दिया! आगे और जरूरत पड़ी तो और माँग लेंगें, घर की ही तो बात है!” -अफसर ने आगे बताया।

उधर, ट्रैफिक विभाग की इन्कम देखकर सरकार भी इसे ही देश का नया रिजर्व बैंक घोषित करने के बारे में गंभीरता से विचार कर रही है।



ऐसी अन्य ख़बरें