Tuesday, 19th November, 2019

चलते चलते

आजकल की फिल्मों में 'हीरो' ट्रक ड्रायवर नहीं बनता इसलिए भारी वाहनों के सेक्टर में है मंदी: निर्मला सीतारमण

11, Sep 2019 By किल बिल पांडे

नई दिल्ली. बुरे वक़्त से गुज़र रही देश की ऑटो इंडस्ट्री में आई सुस्ती को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नये ज़माने के मिलेनियल्स के माइंडसेट को ज़िम्मेदार ठहराया है।

truck
ऐसे दृश्य देखने को नहीं मिलते!

इस आरोप के बाद मिलेनियल्स ने उल्टा सरकार के असंतोषजनक सफाई पर सवाल उठाते हुए कहा है कि, अगर हमारे ओला/ ऊबर लेने से ऑटो सेक्टर में मंदी है, तो भारी वाहनों की बिक्री में क्यों गिरावट आ गयी है?

इस बार मिलेनियल्स के साथ-साथ पूरे देश को चौंकाते हुए निर्मला सीतारमण ने भारी वाहनों की गिरावट में आये कारणों का भी खुलासा कर डाला है। फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर ने उन्हें मंदी भगाने के टिप्स देने के बहाने इंटरव्यू के लिए राज़ी कर लिया, जहाँ ये खुलासा हुआ।

इंटरव्यू में वित्त मंत्री ने बताया कि, “अब हमारी फिल्मों के ‘हीरो’ ट्रक ड्रायवर बनना पसंद नहीं करते इसलिए भारी वाहनों के सेक्टर में मंदी छा गई है! वरना पहले जितेंद्र जैसे अभिनेता भी ‘आशा’ फिल्म में ट्रक ड्रायवर बनकर ‘जाने हम सड़क के लोगों से’ टाइप के मशहूर गीत गा लिया करते थे!”

सर खुजाते हमारे रिपोर्टर को अपना तर्क विस्तार से समझाते हुए उन्होंने आगे बयाता कि, “फिल्मों के हीरो को देख कर ही तो सब उसके जैसा करियर चुनते हैं ना, एक ज़माना था कि हमारी फिल्मों का हीरो ट्रक ड्रायवर, ट्रेक्टर ड्रायवर या बस ड्रायवर हुआ करता था! आजकल के हीरो’ज को देखो, ड्रायवर बनने में शर्म आती है, मिलेनियल्स जो ठहरे!”

“हमारी पार्टी के सांसद सनी पाजी ने ‘ग़दर’ में ट्रक चलाया, आमिर खान ने ‘मेला’ में ट्रक चलाया, यहाँ तक कि बच्चन साब ने, हीरा ठाकुर बन कर अपनी बस सर्विस तक शुरू कर डाली थी। अब कौन करता है ऐसा? बताओ? सारे मिलेनियल्स टैक्सीयों में घूमेंगे तो ट्रक कौन चलाएगा?” -गुस्साई सीतारमण ने पानी गटकते हुए कहा।

इस पूरे तर्क ने मिलेनियल्स को हक्का-बक्का कर डाला है। खबर है कि अपनी गलती मानते हुए मिलेनियल्स समुदाय का प्रतिनिधि मंडल, वित्त मंत्री से मिलकर अगले कुछ दिनों में माफ़ी मांग सकता है।



ऐसी अन्य ख़बरें