Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

बिना बात ओला के ड्राइवर को धो दिया निर्मला ताई ने, वजह पूछता रह गया बेचारा

17, Sep 2019 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. ओला कैब के एक ड्राइवर पर उस समय आफ़त टूट पड़ी, जब दिन निकलते ही वो निर्मला बड़ी ताई के हत्थे चढ़ गया। उसकी चीख़-पुकार सुनकर राहगीरों ने किसी तरह उसे छुड़ाया और बेचारे की जान बचाई।

nirmala-sitharaman
ताई की तरह पत्रकारों से झगड़तीं वित्त मंत्री निर्मला

पड़ोसियों से मिली जानकारी के मुताबिक, मयूर विहार के फ़ेज-3 में एक निर्मला ताई रहती हैं, जिनका बेटा अनुराग ठाकोर थोड़ी दूर जाने के लिए भी कैब बुक करता है। इस बात से निर्मला ताई का पारा हमेशा हाई रहता है और वो सारा टाइम कैब ड्राइवरों को कोसती रहती हैं।

आज सुबह भी ऐसा ही हुआ, जब अनुराग ने दोस्त के घर जाने के लिए कैब बुलाई थी और कैब वाला घर के बाहर खड़ा हॉर्न बजा रहा था। हॉर्न सुनते ही ताई तमतमा गईं और झाड़ू लेकर बाहर निकलीं और ड्राइवर पर पिल पड़ीं।

वो झाड़ू मारती जाती थीं और बड़बड़ाती जाती थीं- “तेरी वजह से मेरे घर की इकोनॉमी का भट्टा बैठ गया है! जब देखो कैब लेकर आ जाता है मेरे लड़के को बिगाड़ने! अगर आज के बाद यहाँ दिखाई दिया तो तेरी कैब में आग लगा दूँगी!” उसकी चीख़-पुकार सुनकर लोग दौड़े आये और किसी तरह उसे ताई के चंगुल से छुड़ाया।

“मेरी ग़लती क्या है?” वो ये कहता हुआ और सुबकता हुआ कैब लेकर चला गया। लेकिन ताई का ग़ुस्सा फिर भी शाँत नहीं हुआ, वो बड़बड़ाती रहीं, “ऐसी मिलेनियल औलाद भगवान किसी को ना दे!” और अनुराग 4 किलोमीटर दूर दोस्त के घर जाने के लिए चुपचाप पैदल ही निकल लिया।



ऐसी अन्य ख़बरें