चलते चलते

बिना नहाये, शॉर्ट्स पहनकर 'वर्क फ्रॉम होम' करता था युवक, एक हजार किमी दूर बैठे बॉस ने नौकरी से निकाला

07, May 2020 By Ritesh Sinha

रायपुर. कोरोना महामारी की वजह से सुमीत वर्मा को, वर्क फ्रॉम होम ही करना पड़ रहा था, शुरू-शुरू में तो ये सब उसे अच्छा लगा लेकिन समय के साथ वो बोरियत महसूस करने लगा। कोई देखने वाला नहीं था इसलिए वो लापरवाही पर उतर आया, कभी बिना नहाये तो कभी बनियान में ही वो डेस्कटॉप के सामने बैठ जाया करता था।

wfh
जल्दी से रिपोर्ट भेजता सुमीत

उधर, सुमीत के बॉस मि. बग्गा की नाक विशेष पदार्थ से मिलकर बनी हुई थी। वो एक हजार किमी दूर से भी सूंघकर बता देते थे कि कौन अपने काम में ध्यान दे रहा है और कौन लॉकडाउन की आड़ में खाना-पूर्ति कर रहा है।

बहुत दिन तक बर्दाश्त करने के बाद मि. बग्गा ने आखिरकार सुमीत को नौकरी से निकाल ही दिया। अब सुमीत के पास बहुत समय है और वो दिन भर तीस लाइफ वाला ‘कॉण्ट्रा’ खेलता रहता है।

सुमीत पर टिप्पणी करते हुए उसके बॉस मि. बग्गा ने कहा कि, “माना कि घर से काम करने की छूट दी गई है लेकिन इसका मतलब ये तो नहीं है ना कि कुछ भी पहनकर काम पर लग जाओ!

अब तो उसने परफ्यूम लगाना भी छोड़ दिया है, कहता है घर में सूंघने वाला कौन है? दो महीने से उसके परफ्यूम का बोतल डिब्बा जस का तस पड़ा हुआ है! शेविंग तो उसने लगता है पिछले दस साल से नहीं की है, बाबा रामदेव का छोटा भाई लगता है! अब इसे नौकरी से नहीं निकालूंगा तो और क्या करूँगा?” -उन्होंने आगे कहा।



ऐसी अन्य ख़बरें