Wednesday, 19th December, 2018

चलते चलते

बाजार में पैसा लगाने की जगह दीवार में सर क्यों नहीं मार लेते? जेटली ने निवेशकों को दी सलाह

08, Oct 2018 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और रुपये के कमजोरी के चलते पिछले एक महीने से बाजार में लगातार बिकवाली हो रही है, ऐसे में वित्त मंत्री अरुण जेटली का एक बयान निवेशकों के लिए मलहम का काम करने वाली है। जी नहीं, जेटली जी ने कोई पालिसी डिसीजन नहीं लिया है बल्कि उनका तो सिर्फ इतना कहना है कि बाजार में पैसा लगाने से अच्छा है कि नज़दीक की दीवार पर अपना सर मार लिया जाए।

Jaitley- Petrol Price
यहाँ क्या कर रहे हो?

साथ ही मंत्री जी ने यह भी दावा किया कि बाजार में पैसा गँवाने पर जितना दर्द होता है, उससे कम दर्द, दीवार पर सर मारने से होगा। यानि कि फिलहाल दीवार से सर टकराने की रणनीति ही फायदेमंद रहने वाली है।

जेटली जी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए निवेशकों को सलाह दी कि  “देखिए! हम स्थिति पर नज़र बनाए हुए हैं, अगर कुछ गड़बड़ होती है तो हम वादा करते हैं कि हमारी आँखों के सामने ही होगी! मैं तो कहता हूँ कि आप लोग कुछ दिन बाजार से दूर रहें और इस खाली समय का उपयोग करने के लिए ऋषिकेश जाकर बंगी जंपिंग में किस्मत आजमाएँ! It’s the best option we have!.

डीप फिशिंग के चक्कर में पड़े निवेशकों को मंत्री जी ने आईडिया दिया कि “ये समय डीप-फिशिंग का नहीं डीप-डाइविंग का है, मालदीव का टिकट लीजिए और स्कूबा डाइविंग करके आइये! कहाँ माथापच्ची कर रहे हैं?”

जेटली के इस बयान को फेस-वैल्यू पर लेते हुए बाजार ने भी पॉजिटिव ट्रेंड दिखाना शुरू कर दिया। सेंसेक्स, पाँच सौ अंकों की बढ़त के साथ कारोबार करने लगा। इतने दिनों बाद सूचकांक को हरे निशान में देखकर कई ‘बुल्स’ ख़ुशी के मारे बेहोश हो गए। निवेशकों ने इतना अच्छा आईडिया देने पर वित्त मंत्री जी का आभार प्रकट किया है और वादा किया है कि दीवार वाली बात पर अवश्य अमल करेंगे!



ऐसी अन्य ख़बरें