Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

‘वर्क फ्रॉम होम’ कर HR ने बना डाली ताबड़तोड़ रंगोलियाँ, किताब छापने की तैयारी में जुटा परिवार

18, Mar 2020 By किल बिल पांडे

गुडगाँव.  देश कोरोना वायरस और उनकी ख़बरें दिखाते न्यूज चैनलों से जूझ रहा है। मरीजों की संख्या की जानकारी के साथ-साथ न्यूज एंकर, नुस्खे और बचाव के तरीकों का बखान करते हुए देखे जा सकते हैं।

rangoli
वर्क फ्रॉम होम करतीं श्वेता

कोरोना के कारण एहतियातन ज्यादातर दफ्तरों ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की छूट दे रखी है। इस छूट की वजह से लोग अपने परिवार के साथ समय बिता पा रहे हैं वहीं कुछ लोगों को वाकई काम भी करना पड़ रहा है।

स्वास्थ्य सुरक्षा कारणों से दी गयी यह छूट, गुडगाँव की नामी कंपनी में एचआर एग्जीक्यूटिव के पद पर तैनात श्वेता टायरवाला के लिए वरदान साबित हुई। खबर है कि पिछले चार दिनों में ‘वर्क फ्रॉम होम’ करते हुए श्वेता ने लगभग तीन सौ रंगोलोयाँ बना डाली हैं। इस तरह उन्होंने खुद अपना ही पिछला, ढाई सौ रंगोलियों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

श्वेता के इस कारनामे ने HR जगत में खलबली मचा दी है। इस कारनामे की भनक लगते ही, सभी कंपनियां लुभावने पैकेज के साथ श्वेता को अपने खेमे का हिस्सा बना डालना चाहती है। अति-उत्साहित श्वेता ने भी अपने रंगोली डिजाइंस को, किताब की शक्ल में उतारने का निर्णय लिया है, जिसके लिए उनके परिवार के सदस्य प्लानिंग में जुट गये हैं।

फ़ेकिंग न्यूज  से बात करते हुए श्वेता ने बताया कि, “रंगोली बनाना मेरा हमेशा से पैशन रहा है, पर डिपार्टमेंट में मुझे हमेशा पार्टी के लिए गुब्बारे फुलाने वाली टीम में ही रखा जाता था। लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी, बीच-बीच में छुपकर रंगोली बनाती रही, यह सब उसी मेहनत का नतीजा है!”

रिकॉर्ड को मिले आश्चर्यजनक रिस्पोंस पर श्वेता ने कहा कि- “मुझे इसकी बिल्कुल उम्मीद नहीं थी, ऑफिस में भी रंगोली पर कोई न कोई पांव रख ही देता था, ध्यान भटक जाता था, घर में पूरी एकाग्रता के साथ काम करते हुए अपना यह लक्ष्य हासिल किया है! जॉब चेंज, सैलरी बढ़ाने के ऑफर तो आ रहे हैं पर फ़िलहाल मेरा सारा ध्यान अपने डिजाइंस की किताब छपवाने पर है! कॉलिन्स से बात चल रही है!” -श्वेता ने रिपोर्टर को सैनीटाईज़र पकड़ाते हुए कहा।



ऐसी अन्य ख़बरें