Thursday, 27th February, 2020

चलते चलते

वित्त मंत्री ने ली जम्हाई, 200 अंक गिर गया शेयर बाजार

07, Feb 2020 By Fake Bank Officer

मुंबई. अक्सर ऐसा समझा जाता है कि सरकार की नीतियाँ और अर्थव्यवस्था की स्थिति, शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव के लिए ज़िम्मेदार होती हैं लेकिन ‘IIM अहमदाबाद’ की एक ताजा रिसर्च से पता चला है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के चुप रहने और मुँह खोलने से भी शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव आ जाते हैं।

Nirmala-Budget2020
मुस्कुराने पर भी गिरता है बाजार

IIM के छात्रों ने कड़ी रिसर्च के बाद पता लगाया है कि वित्त मंत्री के जम्हाई लेने भर से ही बिकवाली शुरू हो जाती है और ‘सेंसेक्स’ 200 अंक नीचे चला जाता है।

वित्त मंत्री के मुँह खोलते ही बाजार में किसी अनहोनी की आशंका घर कर लेती है, निवेशक उटपटांग तरीके से व्यवहार करने लगते हैं। वहीं यदि निर्मला जी चुप रहती हैं तो मार्केट में यह संदेश जाता है कि देश मे सब ‘चंगा सी’ ऐसे में निवेशक खुश रहते हैं और मार्केट में उछाल आता है।

हाल ही आये बजट और उसके बाद शेयर बाजार में आई भारी गिरावट से इस रिसर्च की पुष्टि होती है। बजट के बाद Sensex का 987 अंक नीचे आना, केवल सरकार की नीतियों की वजह से नहीं बल्कि निर्मला जी के ढाई घंटे तक बोलने की वजह से भी हुआ है।

हमारे सूत्रों ने बताया कि जब निर्मला जी ने बजट पढ़ना शुरू ही किया था तभी से मार्किट गिरने लगा था। बजट भाषण के दौरान  जब उन्होंने ‘बेटी-बचाओ बेटी-पढ़ाओ’ जैसी योजना का जिक्र किया तो निवेशक और घबरा गये, लिहाजा बाजार की कमर टूट गयी।

हालाँकि बाद में अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए वित्त मंत्री ने इंटरव्यू देना बंद कर दिया और मार्केट ने अपना खोया हुआ लेवल फिर से अचीव कर लिया।

शेयर बाजार के विशेषज्ञों का तो यह भी कहना है कि यदि बोलने का काम वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर करें तो शेयर बाजार बिल्कुल भी नही गिरेगा क्योंकि उनके गोली मारने वाले नारों से निवेशक भी डरे हुए हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें