चलते चलते

'छपाक' देखने जा रहे हैं सुनसान जगह की तलाश में भटकने वाले प्रेमी जोड़े, OYO रूम्स को भारी नुकसान

16, Jan 2020 By Guest Patrakar

मुंबई. देश में हजारों डेटिंग एप्स ऐसी हैं जिसकी वजह से OYO रूम्स का कारोबार चलता रहता है, प्रेमी जोड़े ‘ओयो’ एप्प पर हजार-बारह सौ में अपना कमरा बुक कर लेते हैं और अच्छी प्राइवेसी भी मिल जाती है।

oyo-room
यहाँ भी छाया सन्नाटा

लेकिन अब गेम थोड़ा बदल गया है, दीपिका पादुकोण की फिल्म ‘छपाक’ की वजह से OYO कंपनी को तगड़ा नुकसान हो रहा है क्योंकि OYO से ज्यादा सन्नाटा और प्राइवेसी तो प्रेमी जोड़ों को उन थियेटर्स पर मिल रही है जहाँ यह फिल्म दिखाई जा रही है।

सूत्रों की मानें तो ‘छपाक’ मूवी के लगभग सभी स्क्रीन्स खाली जा रहे हैं, ऐसे में दो सौ रुपये की टिकट खरीदकर कपल्स का सिनेमा हॉल में घुस जाना सबसे अच्छा ऑप्शन है।

ऐसे ही एक प्रेमी जोड़े वीरू और बसंती से हमने बात की। वीरू ने हमें बताया कि, “आपको तो पता ही है कि हम यहाँ क्यों आते हैं, पर दिक्कत की बात ये है कि साला आजकल इसमें भी बहुत खर्चा आ जाता है! हाँ, जब से ‘छपाक’ फिल्म आई है तब से थोड़ी राहत मिल रही है, सस्ते में काम निपट जाता है!

थियेटर खाली रहते हैं तो वहाँ हमारा रोमांस आसानी से हो जाता है, अगर कोई भटका हुआ दर्शक वहाँ पहुँच भी जाए तो वो भी हमारी ही प्रजाति का होता है इसलिए हमें कोई परेशानी नहीं होती! यही कोई पाँच-छः सौ रुपये बच जाते हैं, रूम बुक करने का टेंशन भी नहीं होता!” -वीरू ने आगे बताया।

सूत्रों की मानें तो कपल्स को ऐसा मौक़ा आख़िरी बार रामगोपाल वर्मा की ‘आग’ के वक्त मिला था, जब फिल्म देखने के बहाने लाखों प्रेमी जोड़ों ने ‘कार्यक्रम’ को अंजाम दिया था। ‘आग’ के बाद ‘छपाक’ ही उस लेवल पर पहुँच पाई है।

उधर,  थियेटर वाले भी कम नहीं हैं, उन्होंने मूवी का खर्चा निकालने के लिए टिकट का दाम 500-700 के बीच रखने तथा कपल्स को बिस्तर, कैबिन और सुरक्षा के लिए अन्य सामान देने का निर्णय लिया है। अब ये तो वक़्त ही बताएगा कि ऐसा करने से सिनेमा वाले अपना खर्चा निकाल पाते हैं या नहीं!



ऐसी अन्य ख़बरें